scorecardresearch
 

यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार JNU प्रोफेसर को मिली जमानत

जौहरी पर जेएनयू की कई छात्राओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. इस मामले में मंगलवार को 8 छात्राओं ने अपने बयान पटियाला हाउस कोर्ट में दर्ज कराए. इससे पहले मंगलवार को जेएनयू के छात्रों ने वसंतविहार पुलिस स्टेशन के सामने विरोध प्रदर्शन किया था. पुलिस ने उचित कानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया था. इसके बाद पुलिस ने प्रोफेसर पर 8 FIR दर्ज की थीं.

सोमवार को वसंतकुंज थाने के बाहर प्रदर्शन करते JNU स्टूडेंट्स सोमवार को वसंतकुंज थाने के बाहर प्रदर्शन करते JNU स्टूडेंट्स

दिल्ली की जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (JNU) में यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर अतुल जौहरी को मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद पूछताछ की. इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि, उन्हें कुछ ही देर बाद अदालत से जमानत मिल गई.

गिरफ्तारी के बाद अतुल जौहरी को पटियाला हाउस अदालत में पेश किया गया था. दिल्ली पुलिस ने जौहरी को रिमांड पर लेने की मांग नहीं की. जौहरी के वकील ने उनकी जमानत की अर्जी दी थी और उन्हें अदालत से जमानत मिल गई.

प्रोफेसर ने अदालत में कहा, 'मुझे गलत तरीके से फंसाया जा रहा है. मैं पॉलिटिक्स का शिकार हो गया.' प्रोफेसर के वकील आरके वाधवा में अदालत में कहा कि ऐसे मामलों में प्रोफेसर जेल जाते हैं तो कोई भी प्रोफेसर किसी छात्र को अपने पास नहीं बुलाएगा. वकील ने कहा कि प्रोफेसर जौहरी ने कई अच्छे स्टूडेंट दिए हैं.

जमानत पर सुनवाई के बाद मजिस्ट्रेट ने अतुल जौहरी की जमानत को स्वीकार कर लिया और 8 अलग-अलग बेल बॉन्ड भरने को कहा. उनसे 30,000 रुपये के बेल बॉन्ड भरने को कहा गया साथ ही 5 शर्तें भी रखीं कि अगर किसी भी तरह कोई पीड़ित यह शिकायत करता है कि प्रोफेसर अतुल जौहरी की तरफ से उन पर दबाव बनाया जा रहा है, अतुल जौहरी पीड़ितों से मिलने की कोशिश करते हैं तो उनकी जमानत याचिका खारिज करके उन्हें जेल भेज दिया जाएगा.

जौहरी पर जेएनयू की कई छात्राओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. इस मामले में मंगलवार को 8 छात्राओं ने अपने बयान पटियाला हाउस कोर्ट में दर्ज कराए. इससे पहले मंगलवार को जेएनयू के छात्रों ने वसंतविहार पुलिस स्टेशन के सामने विरोध प्रदर्शन किया था. पुलिस ने उचित कानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया था. इसके बाद पुलिस ने प्रोफेसर पर 8 FIR दर्ज की थीं

17 छात्रों के खिलाफ FIR

इस मामले में जेएनयू के छात्रों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है. छात्र संघ की अध्यक्ष गीता कुमारी, उपाध्यक्ष जोया खान और अन्य छात्रों के खिलाफ डीन के ऑफिस में हंगामा करने के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई हैं. ये एफआईआर प्रोफेसर उमेश अशोक कदम ने दर्ज करवाई है, उनका कहना है कि छात्र ज़बरदस्ती उनके दफ्तर में घुस आए थे. उन्होंने बताया कि छात्रों ने डीन को बंधक बना लिया था. इस एफआईआर में गीता समेत कुल 17 छात्रों के नाम हैं.

क्या है मांग?

जेएनयू के छात्र और शिक्षक चाहते हैं कि जौहरी के खिलाफ कार्रवाई हो. उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया जाए. आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ सोमवार शाम को जेएनयू के छात्र वसंत कुंज थाने के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में पीड़ित छात्राओं का बयान दर्ज किया है. शिक्षकों ने प्रोफेसर जौहरी के खिलाफ दिल्ली पुलिस से भी शिकायत की है.

क्यों हो रहा प्रदर्शन?

आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ जेएनयू परिसर में पिछले कुछ दिनों से छात्राएं प्रदर्शन भी कर रही हैं. प्रोफेसर अतुल जौहरी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में लाइफ साइंस पढ़ाते हैं. आरोप है कि प्रोफेसर अतुल क्लास के दौरान छात्राओं के साथ अश्लील बातें और छेड़खानी करते थे. इसी के चलते उनके खिलाफ जेएनयू के कई छात्राएं पिछले 4 दिनों से कैंपस में प्रदर्शन कर रही थीं.

क्या बोले प्रोफेसर जौहरी?

इसके बाद जेएनयू की करीब 7 छात्राओं की शिकायत के आधार पर वसंत कुंज नार्थ पुलिस स्टेशन में धारा 354 और 509 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. उधर, आरोपी प्रोफेसर अतुल का कहना है कि उनके खिलाफ शिकायत करने वाली छात्राओं की अटेंडेंस क्लास में कम है. इसलिए वे कार्रवाई से बचने के लिए इस तरह के आरोप लगा रही हैं. फिलहाल, पुलिस की जांच जारी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें