scorecardresearch
 

दिल्ली में छठ पर्व को लेकर राजनीति तेज, AAP ने केंद्र के पाले में डाली गेंद, लिखी चिट्ठी

दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर छठ पर रोक के फैसले का बीजेपी विरोध कर रही है तो वहीं AAP ने कहा कि BJP को यह समझना चाहिए कि सार्वजनिक स्थानों पर त्योहार मनाने से कोरोना फैल सकता है.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (फाइल-पीटीआई) दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • छठ पर्व को लेकर दिशा-निर्देश जारी करे केंद्रः मनीष सिसोदिया
  • DDMA ने दिल्ली में सार्वजनिक जगहों पर छठ मनाने पर लगाई है रोक
  • CM केजरीवाल के घर के प्रदर्शन के दौरान मनोज तिवारी हुए घायल

दिल्ली में छठ पर्व मनाने को लेकर राजनीति गरमा गई है. सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच इसको लेकर विवाद जारी है. अब दिल्ली सरकार ने छठ पर्व मनाने को लेकर केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से छठ पर्व मनाने को लेकर दिशा-निर्देश जारी करने की अपील की है.

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने छठ पूजा मनाने को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को पत्र लिखा है. पत्र में मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया से छठ पर्व मनाने को लेकर दिशा-निर्देश जारी करने की अपील की है.

मनीष सिसोदिया ने अपने पत्र में लिखा है कि "छठ उत्तर भारतीयों के लिए एक प्रमुख त्योहार है. पिछले साल कोविड-19 महामारी के खतरे को देखते हुए भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार ही पूरे देश में छठ पर्व मनाने से संबंधित निर्णय लिए गए थे."

केंद्र जारी करे दिशा-निर्देश

उन्होंने कहा कि भारत सरकार जल्द से जल्द स्वास्थ्य विशेषज्ञों और अन्य संबंधित लोगों से परामर्श कर छठ पर्व मनाने के संबंध में इस वर्ष के लिए भी दिशा-निर्देश जारी करे."

इसे भी क्लिक करें --- दिल्ली में सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा बैन, DDMA का फैसला, पटाखों पर पहले से ही है रोक

कोरोना महामारी को देखते दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) द्वारा जारी आदेश में राजधानी में सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा मनाने में रोक लगाई गई है. इस फैसले पर विपक्ष लगातार दिल्ली सरकार पर निशाना साध रहा है. 

इस बीच दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा समारोहों पर रोक के फैसले का बीजेपी लगातार विरोध कर रही है सार्वजिनक स्थलों पर छठ पूजा करने का आदेश दिए किए जाने की मांग कर रही है. मुख्यमंत्री केजरीवाल के घर के बाहर आज मंगलवार को विरोध प्रदर्शन किया गया.

प्रदर्शन के दौरान चोटिल हुए मनोज तिवारी

प्रदर्शन के दौरान बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को हल्की चोटें भी आई हैं. मनोज तिवारी, दिल्ली BJP अध्यक्ष आदेश गुप्ता ये सभी सीएम केजरीवाल के घर के बाहर जा रहे थे. हालांकि पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए बैरिकेड्स लगाए थे. जिसे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने तोड़ दिया. बाद में पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. बीजेपी ने अगले 24 घंटे में रोक के फैसले को वापस लेने की मांग की है.

इससे पहले सोमवार को आदेश गुप्ता ने घोषणा की कि त्योहार भव्य तरीके से मनाया जाएगा और पार्टी शासित नगर निगम इसकी व्यवस्था करेगी. आम आदमी पार्टी (AAP) ने बीजेपी की दिल्ली इकाई के छठ पूजा को भव्य तरीके से मनाने के कदम की आलोचना की और धर्म के नाम पर राजनीति करने का आरोप भी लगाया. AAP ने कहा कि BJP को यह समझना चाहिए कि सार्वजनिक स्थानों पर त्योहार मनाने से कोविड-19 फैल सकता है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें