scorecardresearch
 

Explainer: एक कोच में सिर्फ 50 पैसेंजर, खड़े होकर यात्रा करना अलाउड नहीं, जान लें दिल्ली मेट्रो के नियम

कोरोना संकट (Corona Virus) के बीच देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में आज यानी 26 जुलाई से मेट्रो (DMRC) पूरी क्षमता के साथ चलनी शुरू हो गई है. पचास प्रतिशत सीटिंग कैपेसिटी को बढ़ाकर 100 प्रतिशत किया गया है.

हर कोच में सिर्फ 50 यात्री मेट्रो में कर सकेंगे यात्रा (तस्वीर-PTI) हर कोच में सिर्फ 50 यात्री मेट्रो में कर सकेंगे यात्रा (तस्वीर-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मेट्रो में खड़े होकर यात्रा करने पर अब भी रोक
  • ट्रेनों की संख्या में कटौती नहीं- DMRC
  • कोरोना नियमों के पालन करने की DMRC की अपील

कोरोना संकट (Corona Virus) के बीच देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में आज यानी 26 जुलाई से मेट्रो (DMRC) पूरी क्षमता के साथ चलनी शुरू हो गई है. पचास प्रतिशत सीटिंग कैपेसिटी को बढ़ाकर 100 प्रतिशत किया गया है. मेट्रो में अब भी खड़े होकर यात्रा करने पर प्रतिबंध है. डीएमआरसी की तरफ  से कहा गया कि कुछ प्रिंट, डिजिटल और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ऐसी खबर चलाई गई जिससे यह प्रतीत होता है कि दिल्ली मेट्रो पूरी क्षमता के साथ चलेगी.

एक कोच में 50 यात्रियों की ही अनुमति

इस संबंध में डीएमआरसी की तरफ से कहा कि हम अब भी यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि गाइडलाइंस में फेरबदल के बाद भी सोमवार से एक कोच में पचास से ज्यादा यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति नहीं मिलेगी. कोरोना से पहले यह संख्या 300 थी. स्टेशनों पर एंट्री भी रेग्यूलेट की जाएगी.

हालांकि इस दौरान कतारें थोड़ी कम हो सकती हैं, लेकिन पीक आवर्स के दौरान स्टेशन के बाहर लोगों की संख्या ज्यादा हो सकती हैं. डीएमआरसी यह सुनिश्चित करेगा कि आम जनता के लिए प्रवेश में आसानी और सुविधाजनक यात्रा देने के संबंधी सभी कदम उठाए जाएं और कोरोना संबंधी नियमों का पालन किया जाए.

इसपर भी क्लिक करें- कोरोना: देश में बीते 24 घंटे में रिकवरी से ज्यादा नए केस, 416 मरीजों की गई जान
 
ट्रेनों की संख्या में कटौती नहीं- DMRC

DMRC ने यह भी बताया कि यात्रियों की संख्या को लेकर जारी नियम के इतर अधिकांश मेट्रो ट्रेनें 51 हजार से ज्यादा फेरे रोजाना पूरा कर रही हैं. कोरोना संकट से पहले मेट्रो इसी फ्रीक्वेंसी के साथ चलती थी और रोजाना लगभग 60 लाख से ज्यादा यात्री यात्रा करते थे जबकि लोगों को ऐसा लग रहा है कि कोरोना संकट के मौजूदा समय में डीएमआरसी ने ट्रेन, ट्रिप और फ्रिक्वेंसी की संख्या कम कर दी है. ऐसा नहीं है. दिल्ली मेट्रो पहले की तरह ही चल रही है. प्राधिकरण द्वारा जारी गाइडलाइंस का पालन भी किया जा रहा है. 

डीएमआरसी ने लोगों से अपील की कि बहुत जरूरी होने पर ही दिल्ली मेट्रो से यात्रा करें और कोरोना संबंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन करें. अपने साथ-साथ औरों की सुरक्षा का भी ध्यान रखें. कोरोना के खिलाफ इस जंग में लोगों का सहयोग करें.

बता दें कि सोमवार को दिल्ली में मेट्रो के संचालन में दी गई ढील के दौरान लोगों के लापरवाह रवैये की तस्वीर सामने आई. कई जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ती नजर आई. मेट्रो स्टेशनों के बाहर लोगों की भीड़ भी देखी गई. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें