scorecardresearch
 

दिल्ली में कोरोना से मौतें डरा रहीं! बीते 24 घंटे में 702 केस मिले, 4 की जान गई

गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग ने बुलेटिन जारी किया. इसमें बताया कि बीते रोज 15,632 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया, इसमें 702 पॉजिटिव पाए गए. इस दौरान 4 लोगों की मौत हो गई. दिल्ली में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 19,97,054 हो गई, जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 26,446 हो गई है.

X
दिल्ली में कोरोना की वजह से मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है. दिल्ली में कोरोना की वजह से मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है.

दिल्ली में कोरोना केस और पॉजिटिविटी रेट कम होते देखा जा रहा है. हालांकि, मौतों की संख्या ने चिंता बढ़ाई है. बीते 24 घंटे में दिल्ली में 702 कोरोनावायरस के केस मिले हैं. जबकि 4 मरीजों की मौत हुई है. दिल्ली में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 4.49 फीसदी हो गया है. 

गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग ने बुलेटिन जारी किया. इसमें बताया कि बीते रोज 15,632 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया, इसमें 702 पॉजिटिव पाए गए. इस दौरान 4 लोगों की मौत हो गई. दिल्ली में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 19,97,054 हो गई, जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 26,446 हो गई है.

मंगलवार को 9 मरीजों की मौत हुई थी

इससे पहले बुधवार को दिल्ली में 945 कोरोना केस मिले थे और 6 मरीजों की मौत हुई थी. कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 5.55 प्रतिशत था. वहीं, मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में 959 केस मिले थे. जबकि 9 लोगों की मौत हुई थी. पॉजिटिविटी रेट 6.14 प्रतिशत था.

सोमवार को 7 की मौत हुई, 9.27 फीसदी संक्रमण दर थी

सोमवार को कोरोना के 625 केस मिले थे और 7 मौतें हुईं थी. पॉजिटिविटी रेट 9.27 प्रतिशत था. इसी तरह, रविवार को दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 7.25 प्रतिशत था और 942 केस मिले थे. 

दिल्ली में 3654 एक्टिव केस

फिलहाल, दिल्ली में कोरोना के 3654 एक्टिव केस हैं. बुधवार को ये संख्या 4,310 थी. बुलेटिन में ये भी बताया गया कि 2,580 मरीज होम आइसोलेशन में हैं. दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में कोविड ​​​​-19 मरीजों के लिए 9,421 बेड रिजर्व हैं. 381 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं. शहर में 259 कंटेनमेंट जोन हैं.

इस साल मिले थे कोरोना के रिकॉर्ड केस

इस साल 13 जनवरी को दिल्ली में कोरोना के रिकॉर्ड केस मिले थे. यहां एक दिन में 28,867 मरीज मिले थे. दिल्ली में 14 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 30.6 प्रतिशत हो गया था. ये तीसरी लहर के दौरान सबसे ज्यादा संक्रमण दर थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें