scorecardresearch
 

टेक्निकल सर्विलांस के जरिए पुलिस ने 2 नाबालिग लड़कियों को किया बरामद, आरोपी गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच ने जब इस मामले की जांच शुरू की तो उन्हें एक शख्स के ऊपर शक हुआ. उसके बाद पुलिस ने इस पूरे मामले में टेक्निकल सर्विलांस के जरिए जानकारी निकाली.

दिल्ली पुलिस दिल्ली पुलिस
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 14 सितंबर को गोकुलपुरी इलाके के थाने में एक शख्स ने शिकायत दी
  • गोकुलपुरी थाने में इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की
  • बाद में इस केस को क्राइम ब्रांच के हवाले कर दिया गया

13 साल की दो मासूम लड़कियों के अपहरण के मामले को सुलझाते हुए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दो मासूम लड़कियों को मानेसर के पास से बरामद कर लिया, और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. वारदात पूर्वी दिल्ली के गोकुलपुरी इलाके की है. 14 सितंबर को गोकुलपुरी इलाके के थाने में एक शख्स ने शिकायत दी कि शाम 6:00 बजे के बाद उनकी 13 साल की बेटी का कोई सुराग नहीं मिल रहा और साथ ही साथ पास में रहने वाली उसकी दोस्त जिसकी उम्र भी महज 13 साल है वह भी गायब है.

सबसे पहले गोकुलपुरी थाने में इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की. लेकिन पुलिस को कोई सुराग नहीं मिल सका. इसके बाद इस केस को क्राइम ब्रांच के हवाले कर दिया गया. क्राइम ब्रांच ने जब इस मामले की जांच शुरू की तो उन्हें एक शख्स के ऊपर शक हुआ उसके बाद पुलिस ने इस पूरे मामले में टेक्निकल सर्विलांस के जरिए जानकारी निकाली. इस दौरान पुलिस को पता चला कि दोनों लड़कियां जो गायब हुई हैं उनमें से एक लड़की किसी के साथ चैट कर रही थी, और उस वक्त भी लड़की की आइडी एक्टिव थी.

इसके बाद पुलिस ने उस जगह की लोकेशन निकाली तो पुलिस को पता लगा कि लड़कियां मानेसर के पास कासन गांव में हैं इसके बाद पुलिस की एक टीम तुरंत मानेसर के पास गांव में पहुंची और चुपचाप उस घर का पता लगाने लगी ताकि आरोपी को जरा-सी भी भनक न लगे और वह लड़कियों को वहां से गायब न कर दे. इसके बाद पुलिस उस घर तक पहुंच गई और वहां पर उसने दोनों लड़कियों को बरामद कर लिया.
 
पुलिस ने इस मामले में आरोपी सूरज को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक, जांच में पता लगा कि सूरज इनमें से एक लड़की से चैट किया करता था, और उसी ने अपहरण की साजिश रची थी. इसके लिए उसने नाबालिग लड़की को कई तरीके से झूठ बोला था. जब लड़कियां घर से निकलीं तो सूरज घर के पास मौजूद था वहां से उसने दोनों लड़कियों को लिया और सीधे मानेसर चला गया. वहां पर उसने दोनों लड़कियों के लिए पहले से ही पूरी तैयारी कर रखी थी अब पुलिस यह पता लगा रही है कि सूरज किसी गैंग से तो नहीं जुड़ा था और आगे उसकी क्या साजिश थी इसकी भी जानकारी जुटाई जा रही है.

दिल्ली पुलिस ने नष्ट किए अवैध शराब के क्वार्टर

दक्षिणी दिल्ली पुलिस ने अलग-अलग मामलों में बरामद 16 हजार 262 अवैध शराब के क्वार्टर को नष्ट कर दिया है. पुलिस ने इन सभी शराब की बोतलों को अलग-अलग तस्करों से बरामद किया था. इनमें से ज्यादातर बरामदगी लॉकडाउन के दौरान तस्करों के पास से हुई थी. एक्साइज एक्ट के मामलों में बरामदगी को नष्ट करने से पहले पुलिस को कई सारी फॉर्मेलिटी पूरी करनी होती हैं.

दिल्ली पुलिस की टीम ने सबसे पहले बरामद चीजों की पूरी लिस्ट बनाई. अधिकारियों को उसकी कॉपी भेजी गई और उसके बाद टिगड़ी के मैदान में ले जाकर सभी शराब की बोतलों को रखा गया और फिर वहां पर लोगों की मौजूदगी में शराब की बोतलों को नष्ट कर दिया गया. समय-समय पर दिल्ली पुलिस इस तरीके के अभियान करती है जब बरामद शराब को इस तरीके से नष्ट किया जाता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें