scorecardresearch
 

सवालों में दिल्ली मेट्रो का काम, लोगों के घरों में दरारें पड़ीं

दिल्ली मेट्रो में निर्माण का असर हनुमान मंदिर पर पड़ा है, जहां आगे की ओर पड़ने वाले सभी हॉल क्षतिग्रस्त हो गए हैं. हनुमान की विशालकाय मूर्ति में भी दरारें आ गई हैं.

हनुमान की मूर्ति में दरार हनुमान की मूर्ति में दरार

राष्ट्रीय राजधानी की लाइफ़ लाइन कही जाने वाली दिल्ली मेट्रो हमेशा से अपने विश्वस्तरीय काम के तौर पर जानी जाती है, लेकिन दिल्ली के नजफगढ़ में कुछ ऐसा हुआ कि लोग मेट्रो के कामकाज के तौर-तरीक़ों पर सवाल उठा रहे हैं.

दरअसल, दिल्ली के नजफगढ़ इलाक़े में दिल्ली मेट्रो अपना विस्तार कर रही है और अंडरग्राउंड टनल और मेट्रो स्टेशन बना रही है , लेकिन स्थानीय लोगों का आरोप है कि इस प्रक्रिया में मेट्रो के काम काफ़ी इतना ज़्यादा कंपन हो रहा है कि आसपास की इमारतों में दरारें पड़ गई हैं.

सबसे ज़्यादा असर बेहद पुराने हनुमान मंदिर पर पड़ा है, जहां आगे की ओर पड़ने वाले सभी हॉल क्षतिग्रस्त हो गए हैं. इतना ही नहीं, हनुमान की विशालकाय मूर्ति में भी दरारें आ गई हैं. हालांकि मेट्रो अब मरम्मत का काम भी करा रही है. आसपास के शोरूम में भी दरारें पड़ गई हैं जिसकी वजह से ज़्यादातर शोरूम काम चलने तक बंद कर दिए गए है.

इस समस्या को लेकर स्थानीय तौर पर उठाने वाले जनशक्ति एकता संघ के अध्यक्ष अमित ग़ौर करते हैं कि नजफगढ़ के साथ दिल्ली मेट्रो भेदभाव कर रही है. पहले से ही ये प्रोजेक्ट नजफगढ़ में साढ़े तीन साल लंबित है और ऊपर से मुख्य सड़क में काम अधूरा पड़ा है. ऐसे में व्यापार से लेकर आम राहगीरों तक सबको परेशानी उठानी पड़ रही है.

वहीं स्थानीय लोग भी इस परेशानी को लेकर बेहद आक्रोशित हैं. बहरहाल एक बात तो साफ़ है कि हमेशा से विश्वस्तरीय काम को लेकर जाने जाने वाली मेट्रो पर इस बार उसके कामकाज को लेकर सवाल खड़ा हो रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें