scorecardresearch
 

दिल्ली: मेट्रो और बस में खड़े होकर यात्रा करने की मिली हरी झंडी, DDMA का फैसला

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए DDMA ने बड़ा फैसला ले लिया है. अब दिल्ली मेट्रो और बसों में खड़े होकर यात्रा करने की भी मंजूरी दे दी गई  है. दिल्ली मेट्रो के हर कोच में 30 यात्री खड़े होकर भी यात्रा कर सकेंगे, वहीं बसों की सीट क्षमता का 50 फीसदी यात्री खड़े होकर सफर कर सकेंगे

मेट्रो और बस में खड़े होकर यात्रा करने की हरी झंडी ( पीटीआई) मेट्रो और बस में खड़े होकर यात्रा करने की हरी झंडी ( पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मेट्रो और बस में खड़े होकर यात्रा करने की मिली हरी झंडी
  • बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए फैसला

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए DDMA ने बड़ा फैसला ले लिया है. अब दिल्ली मेट्रो और बसों में खड़े होकर यात्रा करने की भी मंजूरी दे दी गई  है. दिल्ली मेट्रो के हर कोच में 30 यात्री खड़े होकर भी यात्रा कर सकेंगे, वहीं बसों की सीट क्षमता का 50 फीसदी यात्री खड़े होकर सफर कर सकेंगे.

दिल्ली मेट्रो में खड़े होकर सफर की मंजूरी

अब ये फैसला इसलिए लिया गया है जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग अपने निजी वाहन को छोड़ पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करें. DDMA ने जो नोट जारी किया है उसमें भी इस कारण का विस्तार से उल्लेख किया गया है. बताया जा रहा है कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की वजह से स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. ऐसे में सड़कों पर ज्यादा वाहन चलने से स्थिति और बिगड़ सकती है. इसी वजह से DDMA ने खड़े होकर मेट्रो और बस में सफर करने की मंजूरी दे दी है.

नोट में बताया गया है कि अब से अब दिल्ली मेट्रो में 100% सीटिंग कैपेसिटी के अलावा हर कोच में 30 यात्री खड़े होकर सफर कर सकेंगे. अभी तक केवल 100% सीटिंग कैपेसिटी के हिसाब से ही यात्रियों को यात्रा करने की इजाजत थी. इसके अलावा जिन लोगों को बस से ट्रैवल करना है, उन्हें भी बड़ी राहत दे दी गई है. वे भी अब खड़े होकर सफर कर पाएंगे.

बस में भी खड़े होकर ट्रैवल

बसों के लिए बताया गया है कि डीटीसी और क्लस्टर की बसों में 100% सीटिंग कैपेसिटी के अलावा सीटिंग कैपेसिटी के 50% यात्री खड़े होकर सफर कर सकेंगे. अब जानकारी के लिए बता दें कि पहले कोरोना गाइडलाइन्स की वजह से मेट्रो में खड़े होकर ट्रैवल करने पर पांबदी लगा दी गई थी. तब सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान रखने के लिए ये फैसला लिया गया था. लेकिन अब स्थिति अलग है, कोरोना कंट्रोल में है और प्रदूषण चिंता बढ़ा रहा है. ऐसे में नियमों में बदलाव करते हुए खड़े होकर ट्रैवल करने को हरी झंडी मिल गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें