scorecardresearch
 

दिल्ली विधानसभा में विरोध के चलते नहीं हुई रामनवमी प्रस्ताव पर चर्चा

कपिल मिश्रा ने गुरुवार को इस मुद्दे पर विरोध किया था और एजेंडे की कॉपी वेल में फाड़ दी थी. विधानसभा अध्यक्ष ने कपिल मिश्रा को मार्शलों से बाहर निकलवा दिया था.

कपिल मिश्रा कपिल मिश्रा

दिल्ली विधानसभा में रामनवमी जुलूस के नाम पर माहौल खराब करने के विषय पर शुक्रवार को चर्चा नहीं हुई. विधायक कपिल मिश्रा और बीजेपी के विरोध के बाद केजरीवाल सरकार ने इस विषय को शुक्रवार के एजेंडे से हटा दिया है.

बता दें कि गुरुवार के एजेंडे में "रामनवमी जुलूस के बहाने कथित साम्प्रदायिक उपद्रव भड़काने के प्रयास" पर चर्चा शामिल थी. ओखला से विधायक अमानतुल्लाह खान को इस चर्चा की शुरुआत करनी थी. कपिल मिश्रा ने इस मुद्दे पर विरोध किया था और एजेंडे की कॉपी वेल में फाड़ दी थी. विधानसभा अध्यक्ष ने कपिल मिश्रा को मार्शलों से बाहर निकलवा दिया था. इस एजेंडे के खिलाफ बीजेपी ने भी बॉयकॉट किया था.

कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया कि राशन घोटाले से ध्यान भटकाने के लिए सरकार ऐसी कोशिश कर रही है. कपिल का ये सवाल भी था कि दूसरे मजहबों के जुलूस पर सवाल खड़े नहीं किए जाते तो फिर रामनवमी को बदनाम करने की कोशिश क्यों की जा रही है?

बहरहाल गुरुवार को वक्त की कमी के कारण इस पर चर्चा नहीं हुई और आज के एजेंडे में फिर से ये विषय अल्पकालिक चर्चा में शामिल था. लेकिन कार्यवाही शुरू होने से पहले जारी हुई संशोधित सूची में से इसे हटा दिया गया है.

कपिल ने पहना राम नाम का कुर्ता

कपिल मिश्रा ने एजेंडा हटाए जाने को जनता की जीत बताया. कपिल मिश्रा ने शुक्रवार भी रामनवमी एजेंडे का विरोध करने का एलान किया था और इसके चलते कपिल मिश्रा राम नाम का कुर्ता भी पहन कर आए थे.

हालांकि सदन की कार्यवाही शुरू होने पर बीजेपी विधायक ओपी शर्मा ने जब स्पीकर रामनिवास गोयल को एजेंडा संशोधित करने के लिए धन्यवाद दिया, तो स्पीकर ने कहा कि रामनवमी के विषय को हटाया नहीं है. उस पर सोमवार को चर्चा होगी. लेकिन स्पीकर ने ये नहीं बताया कि आज के एजेंडे से रामनवमी विषय क्यों हटाया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें