scorecardresearch
 

दिल्ली: बच्चों की कोरोना टेस्टिंग के लिए लैब ने तैयार की खास वैन, जानिए क्या-क्या होंगी सुविधाएं

दिल्ली की एक प्राइवेट लैब ने बच्चों की कोरोना टेस्टिंग कराने के लिए एक खास तरीके की वैन बनाई है. इसमें कई तरह की सुविधाएं मिलेंगी. इसमें बच्चों को गिफ्ट भी दिया जाता है और यह किसी प्ले जोन जैसा अनुभव देती है. बच्चों के हाथ में खिलौने देकर टेस्ट किया जाता है.

बच्चों के कोविड टेस्ट कराने के लिए तैयार हुई खास वैन बच्चों के कोविड टेस्ट कराने के लिए तैयार हुई खास वैन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली के तिलक नगर स्थित प्राइवेट लैब ने शुरुआत की है
  • वैन में बच्चों को गिफ्ट भी दिया जाता है
  • यह स्पेशल वैन किसी प्ले जोन जैसा अनुभव देती है

देश अभी पूरी तरह से कोरोना की दूसरी लहर से निकल नहीं पाया है. एक्सपर्ट्स का दावा है कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर का असर सबसे ज्यादा बच्चों पर देखने को मिल सकता है. इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली की एक प्राइवेट लैब ने बच्चों के कोविड टेस्ट कराने के लिए एक खास वैन तैयार की है. गेम्स, खिलौने, म्यूजिक और कार्टून से सजी यह वैन बच्चों को किसी प्ले जोन जैसा अनुभव देती है. 

दिल्ली के तिलक नगर स्थित स्टार इमेजिंग पैथ लैब ने इसकी शुरुआत की है. डायरेक्टर समीर की मानें तो बच्चे अक्सर टेस्टिंग के नाम से घबराते हैं, फिर चाहे ब्लड टेस्ट हो या फिर टीका, बच्चे और उनके अभिभावक दोनों लैब में आने से कतराते हैं. इसके अलावा, महामारी के लिए जिस तरह से पीपीई किट पहने डॉक्टर्स और मेडिकल स्टोर सैंपल लेते हैं, उसको देखते हुए बच्चों में भी काफी घबराहट है. इस वजह से यह वैन तैयार की गई है. बच्चों के हाथ में खिलौने देकर टेस्ट किया जाता है.

समीर ने कहा, ''अभी फिलहाल लैब की तरफ से दो वैन में इस सेवा की शुरुआत की गई है. जल्दी और वैनों को भी तैयार किया जाएगा. यह बैंक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में घूमकर बच्चों का घर-घर जाकर टेस्ट कर रही है. वैन में आईसी-एमआर की गाइडलाइंस  का पालन किया जा रहा है. इसके साथ ही अगर बच्चों के लिए जल्दी कोरोना की वैक्सीन आती है तो इसी वैन के जरिए बच्चों को वैक्सीन दिलाने की कोशिश करेंगे.''

छोटे बच्चे होने के कारण सैंपल बहुत ही सावधानी के साथ लिया जा रहा है. टेस्टिंग होने के बाद बच्चों को गिफ्ट भी दिए जाते हैं. वहीं, बच्चों के माता-पिता इसे एक अच्छी पहल बता रहे हैं. टेस्ट कराने आए एक अभिभावक ने बताया कि पिछले दिनों जिस तरह के हालात थे और घर के बाहर निकलना भी मुश्किल था. उस को ध्यान में रखते हुए अगर यह कंसेप्ट आगे जारी रहता है, तो बच्चों की टेस्टिंग और आसान होगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें