scorecardresearch
 

कोरोना के लिए एक तिहाई रिजर्व्ड बेड्स का डेंगू के मरीजों के लिए होगा इस्तेमाल, दिल्ली सरकार का अस्पतालों को आदेश

दिल्ली में डेंगू के मामलों में अचानक वृद्धि देखी जा रही है. दिल्ली सरकार ने अपने अस्पतालों को निर्देश दिया है कि वे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया के मरीजों के इलाज के लिए एक तिहाई आरक्षित (रिजर्व्ड) कोविड बेड का इस्तेमाल करें.

X
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डेंगू के लिए इस्तेमाल हो एक तिहाई बेड्स
  • दिल्ली सरकार ने अस्पतालों को दिया निर्देश

दिल्ली में डेंगू के मामलों में अचानक वृद्धि देखी जा रही है. दिल्ली सरकार ने अपने अस्पतालों को निर्देश दिया है कि वे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया के मरीजों के इलाज के लिए एक तिहाई आरक्षित (रिजर्व्ड) कोविड बेड का इस्तेमाल करें. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोरोना के घटते मामलों और दिल्ली में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि डेंगू से लड़ने के लिए अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बेड होंगे.

सभी अस्पतालों में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मामले बढ़ने से मरीजों के लिए बेड की मांग बढ़ने को देखते हुए दिल्ली सरकार ने एक आदेश जारी किया है. आदेश के मुताबिक अब कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित एक तिहाई बेड्स का इस्तेमाल डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों के लिए किया जा सकेगा. यह फैसला दिल्ली में कोविड के मामलों की संख्या में गिरावट और डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए लिया गया है.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया है ताकि डेंगू से लड़ने के लिए अस्पताल में पर्याप्त संख्या में बेड हों. डेंगू से लड़ने के लिए सरकार हर मोर्चे पर आगे काम कर रही है, चाहे जागरूकता फैलाना हो, डेंगू से बचाव हो या मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाना हो, दिल्ली सरकार पूरी तरह से तैयार है. 

उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आई है, इसलिए कोरोना के लिए आरक्षित एक तिहाई बेड का इस्तेमाल अब डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मरीजों के इलाज में किया जाएगा. डेंगू को फैलने से रोकने के लिए दिल्ली सरकार पूरी तरह से तैयार है, क्योंकि दिल्ली के सभी अस्पतालों में डेंगू के इलाज की पूरी तैयारी कर ली गई है.

उन्होंने आगे कहा कि ये बेड्स कोरोना के मरीजों के बेड से पूरी तरह अलग होंगे और यहां के स्टाफ को भी अलग रखा जाएगा, ताकि संक्रमण फैलने की आशंका न रहे. दिल्ली सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया है, ताकि डेंगू के मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल में बेड की संख्या पर्याप्त हो. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें