scorecardresearch
 

इस बार कम प्रदूषित है दिल्ली की हवा, आंकड़ों से हुआ खुलासा

साल 2016 में जनवरी के माह में 6 बार हवा की गुणवत्ता गंभीर रही जबकि 2017 की जनवरी में ऐसा एक भी नई दिन बीता. नवंबर 2016 में गंभीर हवा गुणवत्ता के दिनों की संख्या 10 रही, लेकिन इस साल स्मॉग के बावजूद भी ऐसी गुणवत्ता वाले दिनों की संख्या सिर्फ सात है.   

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर बहस दिल्ली में प्रदूषण को लेकर बहस

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर बहस जारी है इस बीच सीबीसीबी ने आंकड़े जारी कर यह बताया कि पिछली बार के मुकाबले इस बाद दिल्ली की हवा कम प्रदूषित है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड अपनी छान-बीन में पाया कि 28 नवंबर दिल्ली में हवा की गुणवत्ता पिछली साल की तुलना में ज्यादा बेहतर और संतोषजनक रही. इस साल जुलाई के माह में भी दिल्ली की हवा की गुणवत्ता 'अच्छी' थी.

दिल्ली में इस साल 45 दिन 'संतोषजनक' स्तर वाली हवा दर्ज की है जबकि पिछले साल ऐसे दिनों की संख्या सिर्फ 24 थी. वहीं इस साल 'मध्यम' स्तर की हवा गुणवत्ता वाले दिनों से संख्या 104 रही जबकि पिछले साल इसी स्तर के साथ 85 दिन बीते थे. सबसे ज्यादा बदलाव 'गंभीर' स्तर की गुणवत्ता में आया है.

साल 2016 में जनवरी के माह में 6 बार हवा की गुणवत्ता गंभीर रही जबकि 2017 की जनवरी में ऐसा एक भी नई दिन बीता. नवंबर 2016 में गंभीर हवा गुणवत्ता के दिनों की संख्या 10 रही, लेकिन इस साल स्मॉग के बावजूद भी ऐसी गुणवत्ता वाले दिनों की संख्या सिर्फ सात है.    

इस साल दिल्ली में ऐसा कम ही हुआ है जब हवा की गति धीमी रही हो. नवंबर के पहले सप्ताह में ऐसा देखने को मिला था जो भारी स्मॉग भी वजह भी बना. बोर्ड का मानना है कि दिल्ली का सौभाग्य है कि इस बार पिछले साल की तुलना में हवा की गुणवत्ता ज्यादा बेहतर है. हवा की क्वालिटी पर नजर रखने वाली संस्था 'सफर' के मुताबिक अगले दो दिन हवा की गुणवत्ता कम हो सकती है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें