scorecardresearch
 

Delhi Pollution Updates: दिल्ली की हवा में घुला 'जहर', एयर क्वालिटी आज भी 'बहुत खराब', कब सही होंगे हालात?

Delhi Air Pollution: सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार, दिल्ली का एक्यूआई 360 दर्ज किया गया. कई इलाकों में स्मॉग की लेयर सुबह से छाई रही, जिससे विजिबिलिटी पर भी असर पड़ा है. AQI फॉरकास्ट करने वाली एजेंसी ने दावा किया है कि राजधानी और उसके आसपास के शहरों में आने वाले दो दिनों में स्थिति खराब हो सकती है.

X
Delhi Pollution Update Delhi Pollution Update
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली में एयर क्वालिटी आज भी बहुत खराब
  • प्रदूषण से कई दिनों से सांस लेना हो रहा मुश्किल

Delhi Pollution Update: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण में पिछले कुछ दिनों में कमी तो आई है, लेकिन अब भी पूरी तरह से राहत नहीं मिल सकी है. ऐसे में यदि आप गुरुवार सुबह घर से निकल रहे हैं तो फिर थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है. दरअसल, दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 360 बना हुआ है. यह 'बहुत खराब' श्रेणी है. इससे पहले बीते दिन यह स्तर 382 पर था. कई दिनों से राजधानी में हवा जहरीली बनी हुई है, ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर यह हवा कब साफ होगी. 

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार, दिल्ली का एक्यूआई 360 दर्ज किया गया. कई इलाकों में स्मॉग की लेयर सुबह से छाई रही, जिससे विजिबिलिटी पर भी असर पड़ा है. AQI फॉरकास्ट करने वाली एजेंसी ने दावा किया है कि राजधानी और उसके आसपास के शहरों में आने वाले दो दिनों में स्थिति खराब हो सकती है.

पराली, पटाखों के चलते और प्रदूषित हो गई थी हवा

इससे पहले बुधवार को लगातार दूसरे दिन एयर क्वालिटी 'बहुत खराब' थी. वहीं, पंजाब, हरियाणा समेत कई राज्यों में पराली जलाने और दिवाली पर पटाखों की आतिशबाजी के चलते दिल्ली की हवा कुछ दिन तक गंभीर कैटेगरी में आ गई थी. हालांकि, तीन दिनों के बाद स्थिति कुछ बेहतर हुई, लेकिन अब भी हवा में 'जहर' घुला हुआ है.

बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को 'अच्छा', 51 और 100 को 'संतोषजनक', 101 और 200 को 'मध्यम', 201 और 300 को 'खराब', 301 और 400 के बीच 'बहुत खराब' और 401 और 500 को 'गंभीर' माना जाता है. वहीं, छठ महापर्व के बीच यमुना में भी प्रदूषण की मात्रा बढ़ गई. दिल्ली सरकार ने यमुना नदी में प्रदूषण की वजह से बने झाग को हटाने के लिए 15 नावों को तैनात किया. इसके अलावा, दिल्ली जल बोर्ड की ओर से पानी की मदद से झाग को हटाने की भी कोशिश की गई, लेकिन कई इलाकों से सामने आईं तस्वीरों में झाग के बीच ही छठ पूजा का आयोजन किया गया. महिलाएं प्रदूषित नदी के पानी में छठ महापर्व मनाती नजर आईं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें