scorecardresearch
 

दिल्लीः कोरोना की वजह से HC में फिजिकल सुनवाई बंद, जिला अदालतों में भी पाबंदी

दिल्ली हाई कोर्ट में और बाकी जिला अदालतों में शुक्रवार को फिजिकल मोड में ही सुनवाई होनी थी, लेकिन जिस तरह से दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 7,500 के आसपास नए कोरोना के मामले सामने आए हैं उसे देखते हुए कल से ही फिजिकल मोड में सुनवाई स्थगित कर दी गई.

दिल्ली हाई कोर्ट दिल्ली हाई कोर्ट
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 15 मार्च से सभी बेंचों में शुरू हुई फिजिकल मोड में सुनवाई
  • कोरोना की वजह से 22 दिनों में बंद करनी पड़ी यह व्यवस्था
  • दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना 7,500 से ज्यादा नए केस

राजधानी दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते दिल्ली हाई कोर्ट ने बड़ा फैसला लिया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने कल यानी शुक्रवार से हाई कोर्ट और राजधानी की सभी जिला अदालतों में फिजिकल सुनवाई बंद करने के आदेश जारी किए हैं.

नए आदेश के बाद 23 अप्रैल तक दिल्ली हाई कोर्ट और दिल्ली की सभी जिला अदालतों में सुनवाई अब वर्चुअल मोड में ही होगी.

दिल्ली हाई कोर्ट ने कुछ देर पहले इसको लेकर एक सर्कुलर भी जारी किया है. शुक्रवार को हाई कोर्ट में और बाकी जिला अदालतों में फिजिकल मोड में ही सुनवाई होनी थी, लेकिन जिस तरह से दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 7,500 के आसपास नए कोरोना के मामले सामने आए हैं उसे देखते हुए हाई कोर्ट ने कल से ही फिजिकल मोड में सुनवाई स्थगित कर दी है.

हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि इस दौरान अगर कोई व्यक्ति वर्चुअल मोड के माध्यम से सुनवाई में पेश नहीं हो पाता है तो किसी भी पार्टी के खिलाफ एडवर्स ऑर्डर कोर्ट की तरफ से जारी न किए जाएं. तकरीबन 1 साल के बाद पिछले महीने 15 मार्च से ही दिल्ली हाई कोर्ट की सभी बेंचों में फिजिकल मोड में सुनवाई शुरू हुई थी.

पिछले साल मार्च में हुए लॉकडाउन के बाद से ही दिल्ली हाई कोर्ट में सितंबर तक ज्यादातर मामलों की सुनवाई वर्चुअल माध्यम से ही हुई थी.

सितंबर में कुछ बेंचो ने फिजिकल मोड में काम करना शुरू किया लेक़िन अक्टूबर-नवंबर के बीच में दिल्ली में दोबारा से कोरोना के मामले बढ़ने के बाद ज्यादातर मामलों की सुनवाई वर्चुअल मोड में ही हो रही थी. 15 मार्च से हाई कोर्ट प्रशासन ने फिजिकल मोड में सुनवाई के लिए सभी बेंच खोल दी थी. लेकिन महज 22 दिनों के अंतराल पर ही दोबारा इसको कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते बंद किया गया है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें