scorecardresearch
 

Corona Curfew: वीरान पड़ी सड़कें- पुलिस का कड़ा पहरा, तस्वीरों में कैद दिल्ली का हाल

जो सन्नाटा पिछली बार दिल्ली की सड़कों पर देखने को मिला था, एक बार फिर वहीं मंजर आंखों के सामने आ गया है. लाजपत नगर के लोगों के लिए शनिवार की सुबह काफी चुनौती वाली साबित हुई.

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का असर दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का असर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वीकेंड कर्फ्यू पर दिल्ली में सन्नाटा
  • पुलिस की दिखी मुस्तैदी
  • दिल्ली में लगेगा संपूर्ण लॉकडाउन?

कोरोना में दिल्ली की बेकाबू रफ्तार ने ऐसा कहर बरपाया है कि ना चाहते हुए भी सरकार को फिर वीकेंड कर्फ्यू जैसा कठिन फैसला लेना पड़ा है. पूर्ण लॉकडाउन तो नहीं, लेकिन दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने बढ़ते मामलों को देखते हुए वीकेंड कर्फ्यू जरूर लगा दिया है. शनिवार को दिल्ली की सड़कों पर उस कर्फ्यू का असर भी साफ देखने को मिल गया है.

दिल्ली में दिखा कोरोना कर्फ्यू का असर

जो सन्नाटा पिछली बार दिल्ली की सड़कों पर देखने को मिला था, एक बार फिर वहीं मंजर आंखों के सामने आ गया है. लाजपतनगर के लोगों के लिए शनिवार की सुबह काफी चुनौती वाली साबित हुई. एक तरफ घर की चारदीवारी में कैद रहना पड़ा, वहीं दूसरी तरफ सड़कों पर भी पुलिस का जबदस्त पहरा देखने को मिल गया. इस वीकेंड कर्फ्यू में सरकार की तरफ से सिर्फ जरूरी सेवाओं को ही छूट दी गई है और कम संख्या में ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बसें चलाई जा रही हैं, लेकिन ज्यादातर इलाकों में सड़कें वीरान पड़ी हैं और लोग घर के अंदर.

पुलिस हो गई है मुस्तैद

तस्वीरों को देख पता चलता है कि दिल्ली पुलिस की तरफ से भी इस कर्फ्यू को सफल बनाने की पूरी कोशिश की गई है. जगह-जगह बैरिकेड लगा दिए गए हैं और बाहर निकल रहे लोगों से भी लगातार सवाल-जवाब हो रहे हैं. पूछा जा रहा है कि वे घर से बाहर क्यों जा रहे हैं. अगर जवाब से संतुष्ट नहीं हुए तो उन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जा रही है. पुलिस की तरफ से साफ कर दिया गया है कि अगर कोई बिना वजह सड़क पर घूमता हुआ मिला तो उसके खिलाफ केस दर्ज कर उसे जेल भी भेजा जा सकता है.

दिल्ली में तेजी से बढ़े कोरोना मामले

अब दिल्ली में इतनी सख्ती इसलिए देखने को मिल रही है क्योंकि कोरोना ने तमाम रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं. जहां मार्च के शुरुआती समय में सिर्फ 200-300 केस दर्ज किए जा रहे थे, अप्रैल शुरू होते ही ग्राफ का चढ़ना शुरू हो गया और देखते ही देखते दिल्ली में 20 हजार के करीब नए मामले आने लगे. सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि वे लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते, लेकिन अगर मामले बढ़ते रहे और अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड की कमी हुई, तो उन्हें कुछ समय के लिए ये फैसला भी लेना पड़ सकता है. 

दिल्ली में लगेगा संपूर्ण लॉकडाउन?

वहीं इस सिलसिले में केजरीवाल की तरफ से एक मीटिंग भी बुलाई गई है जहां पर कोरोने के बिगड़ते हालात पर चर्चा होनी है. इस मीटिंग में कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए नोडल मंत्री मनीष सिसोदिया, हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन और अन्य महत्वपूर्ण अधिकारी शामिल होने वाले हैं. ऐसी संभावनाएं भी जताई जा रही हैं कि अगर वीकेंड कर्फ्यू से भी कोरोना मामले नहीं घटते हैं तो दिल्ली में जल्द ही संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें