scorecardresearch
 

कोरोना पर सोनिया ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी, वैक्सीन सप्लाई समेत की ये तीन मांगें

दिल्ली में कोविड-19 मामलों में चिंताजनक वृद्धि के बीच सोमवार को सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण का छठा दौर शुरू हुआ जिसका उद्देश्य लोगों में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी की मौजूदगी का पता लगाना है. सूत्रों ने कहा कि इस कवायद के तहत 272 वार्डों से 28,000 नमूने एकत्रित किये जाएंगे.

सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र (फाइल फोटो) सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सोनिया गांधी ने पीेएम मोदी को लिखा पत्र
  • पीएम मोदी के सामने रखी तीन शर्त

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोविड महामारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखा है. उन्होंने कांग्रेस शासित प्रदेश राज्यों से चर्चा करने के बाद प्रधानमंत्री के सामने तीन मांगे रखी हैं. पहली मांग के मुताबिक उन्होंने कहा- राज्यों के पास तीन से पांच दिन का वैक्सीन स्टॉक बचा है. इसलिए अर्जेंट लेवल पर सप्लाई करना होगा. दूसरी मांग के मुताबिक- कोविड से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर को जीएसटी फ्री किया जाए. वहीं तीसरी मांग के मुताबिक- महामारी से प्रभावित गरीबों को 6000 रूपये दिया जाए. इसके अलावा बड़े शहरों से वापस लौट रहे लोगों के लिए ट्रांसपोर्टेशन की व्यवस्था की जाए. 

दिल्ली में सीरो सर्वे का छठा दौर जारी

दिल्ली में कोविड-19 मामलों में चिंताजनक वृद्धि के बीच सोमवार को सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण का छठा दौर शुरू हुआ जिसका उद्देश्य लोगों में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी की मौजूदगी का पता लगाना है. सूत्रों ने कहा कि इस कवायद के तहत 272 वार्डों से 28,000 नमूने एकत्रित किये जाएंगे, यानी प्रत्येक वार्ड से करीब 100 नमूने. दिल्ली की आबादी 2 करोड़ से अधिक है जो 11 जिलों में फैली हुई है.

सूत्रों ने कहा कि सीरो सर्वे के छठे दौर में प्रतिभागियों के टीकाकरण इतिहास को भी संज्ञान में लिया जाएगा. पहला सीरो सर्वे दिल्ली सरकार द्वारा पिछले साल 27 जून से 10 जुलाई तक नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) के सहयोग से किया गया था. इस कवायद के तहत 21,387 नमूने एकत्र किए गए थे और यह पाया गया था कि लगभग 23 प्रतिशत प्रतिभागी कोरोना वायरस के सम्पर्क में आये हैं.

सीरो सर्वेक्षण के पांचवें दौर के नतीजों में शहर की 50 प्रतिशत से अधिक आबादी में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी पाये गए थे. जनवरी में समाप्त हुए सर्वेक्षण के तहत शहर के विभिन्न जिलों से 25,000 से अधिक लोगों से नमूने एकत्र किए गए थे.

दिल्ली में रविवार को कोविड-19 के 10,774 मामले सामने आये थे. इसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने निवासियों को चेतावनी जारी की कि उन्हें बहुत जरूरी होने पर ही अपने घरों से बाहर निकलना चाहिए. उन्होंने कहा था कि कोरोना वायरस की चौथी लहर पिछली लहरों की तुलना में कहीं अधिक खतरनाक है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें