scorecardresearch
 

दिल्ली: सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड बेड बढ़ाने के निर्देश, CM की आपात बैठक में फैसला

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरवाल ने कहा कि पिछली पिक के दौरान केंद्र सरकार के अस्पतालों में कोविड बेड बनाए गए थे. सीएम ने केंद्र सरकार के अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने के लिए उनसे संपर्क करने के निर्देश दिए. सीएम ने यह स्पष्ट किया कि अभी तत्काल में दिल्ली के सरकारी और निजी अस्पतालों में उतने बेड बढ़ाए जाएं, जितने पिछले साल नवंबर में थे.

कोरोना के हालात पर चर्चा के लिए सीएम केजरीवाल ने बुलाई बैठक (फाइल फोटो) कोरोना के हालात पर चर्चा के लिए सीएम केजरीवाल ने बुलाई बैठक (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केजरीवाल ने की कोरोना को लेकर आपात बैठक
  • सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड बेड बढ़ाने के निर्देश
  • दिल्ली वालों से कोविड प्रोटोकाल पालन करने की अपील

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए केजरीवाल सरकार एक बार फिर से एक्टिव मोड में है. सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार सुबह दिल्ली सचिवालय में कोरोना को लेकर आपात बैठक की. इस दौरान उन्होंने सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड बेड़ बढ़ाने के निर्देश दिए. सीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक में दिल्ली के कई सरकारी और निजी अस्पतालों को फिर से पूरी तरह से कोविड अस्पताल बनाने का निर्णय लिया गया है. इसके साथ ही केंद्र सरकार के अस्पतालों में भी कोविड बेड बढाने के लिए दिल्ली सरकार संपर्क करेगी. 

केजरीवाल ने कहा कि हमने सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड बढ़ाने के लिए कई कदम उठाने के निर्णय लिए हैं और इसमें सभी से सहयोग की अपील की है. सीएम ने दिल्ली के लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग कोविड के लिए जारी प्रोटोकाल का पालन करें, बहुत जरूरी होने पर ही अस्पताल जाएं और वैक्सीन अवश्य लगवाएं.

बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से दिल्ली में कोरोना की मौजूदा स्थिति की जानकारी ली. मुख्यमंत्री ने दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों पर गंभीर चिंता जताई. उन्होंने कहा कि हमें कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने के साथ ही संक्रमित लोगों को अच्छा से अच्छा इलाज मुहैया कराना है. अधिकारियों ने बताया कि अस्पतालों में कोविड मरीजों के आने की संख्या बढ़ रही है. अभी अस्पतालों में बेड पर्याप्त है, लेकिन मरीजों से बेड भरते जा रहे हैं. 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोविड मरीजों को किसी भी हालत में अस्पतालों में बेड की किल्लत नहीं होनी चाहिए. कोरोना की यह चौथी लहर पिछली लहर से अधिक खतरनाक है. दिल्ली कोरोना केस के मामले में प्रतिदिन एक नया रिकार्ड बना रही है. उन्होंने अधिकारियों को सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड के बेड युद्ध स्तर पर बढ़ाए जाने के निर्देश दिए. 

उन्होंने कहा कि हमें अभी अस्पताल प्रबंधन को पिछले साल नवंबर माह में आई पिक के स्तर पर लेकर जाना है. कोरोना की मौजूदा स्थिति को मद्देनजर रखते हुए हमें एक बार फिर युद्ध स्तर पर उसी स्तर की तैयारियां करनी है और बेड की संख्या बढ़ानी है. 

बता दें कि पिछले साल नवंबर महीने में आई पिक के दौरान सरकारी और निजी अस्पतालों में 18 हजार से अधिक कोविड बेड बनाए गए थे.

सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार के भी दिल्ली में कई अस्पताल हैं. पिछली पिक के दौरान केंद्र सरकार के अस्पतालों में कोविड बेड बनाए गए थे. सीएम ने केंद्र सरकार के अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने के लिए उनसे संपर्क करने के निर्देश दिए. सीएम ने यह स्पष्ट किया कि अभी तत्काल में दिल्ली के सरकारी और निजी अस्पतालों में उतने बेड बढ़ाए जाएं, जितने पिछले साल नवंबर में थे. उसके बाद यदि उन अस्पतालों में बेड बढ़ाने की गुंजाइश होती है, तो उनसे और बेड़ बढ़ाने की अपील की जाएगी. हमें यह प्रयास करना है कि अस्पतालों में कोविड बेड अधिक से अधिक बढ़ाएं जाएं. 

बैठक में यह भी निर्णय लिया कि दिल्ली के कुछ सरकारी और निजी अस्पतालों को पिछले साल की तरह एक बार फिर पूरी तरह से कोविड अस्पताल बनाया जाएगा. इन अस्पतालों में सिर्फ कोरोना मरीजों का इलाज किया जाएगा. इस संबंध में मुख्यमंत्री ने अस्पतालों को भरोसे में लेकर शीघ्र आदेश जारी करने के निर्देश दिए. इससे दिल्ली में कोविड बेड की संख्या काफी बढ़ जाएगी. 

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारा पूरा प्रयास है कि सभी लोगों को अस्पताल में अच्छा इलाज मिले. सीएम ने दिल्लीनिवासियों से अपील करते हुए कहा कि अगर आप कोरोना पॉजिटिव हैं, लेकिन आप में कोरोना के लक्षण हल्के हैं या बहुत कम है, तो आप घर पर रह कर ही होम आइसोलेशन में इलाज कराएं. इस दौरान हमारे डॉक्टर कई बार फोन करके आपके स्वास्थ्य की जानकारी लेंगे और अगर आपको अस्पताल की जरूरत पड़ती है, तो तत्काल अस्पताल के लिए रेफर किया जाएगा. बहुत जरूरी होने पर ही आप अस्पताल जाएं. 

सीएम ने सभी लोगों से अपील की है कि कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन करें. हमेशा मास्क पहन कर रखें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और सैनिटाइजर या साबून से बार-बार अपने हाथों को धोते रहें, ताकि संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके. उन्होंने यह भी अपील की कि जो लोग वैक्सीन लगवाने के लिए पात्र हैं, वे लोग सेंटर पर जाकर अवश्य वैक्सीनेशन कराएं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें