scorecardresearch
 

दिल्ली में धूमधाम से मनाया गया क्रिसमस, हिन्दू-मुस्लिम हर वर्ग के लोग हुए शामिल

चर्च में कई बच्चे सैंटा वाली टोपी पहन कर क्रिसमस यहां आए. ये टोपी बच्चों को ख़ासा प्रभावित करती है. कुछ ऐसे भी लोग है जो ईसाई नहीं थे लेकिन फिर भी वो हमेशा यहां आते हैं. कोई  अपने परिवार के साथ यहां पहुंचा तो कोई अपने दोस्तों के साथ क्रिसमस मनाने के लिए चर्च आया हुआ था.

दिल्ली की एक चर्च का नजारा दिल्ली की एक चर्च का नजारा

देश की राजधानी दिल्ली में बड़े ही धूमधाम से क्रिसमस का पर्व मनाया गया. दिल्ली के हर चर्च को बेहद ख़ूबसूरत तरीक़े से सजाया गया है. आज दिल्ली के कनोट प्लेस स्थित चर्च में भी हज़ारों लोग क्रिसमस के समारोह में शामिल हुए.

दिल्ली के चर्च में ख़ास बात ये थी की यहां हर समुदाय के लोग क्रिसमस मनाने पहुंचे. हर कोई सिर्फ़ ख़ुशियाँ बांट रहा था. चर्च में की गई लाइटिंग आकर्षक का सबसे बड़ा केंद्र रही. आज के दिन के लिए चर्च को खास तौर पर सजाया गया है और लोग यहां बड़ी संख्या में प्रार्थना के लिए आए हुए थे. क्रिसमस मनाने चर्च आईं चारु का कहना है कि वो हमेशा ही यहां आती हैं और मोमबत्तिया जलाकर प्रार्थना करती हैं.

सैंटा की टोपी पहने दिखे बच्चे

चर्च में कई बच्चे सैंटा वाली टोपी पहन कर क्रिसमस यहां आए. ये टोपी बच्चों को ख़ासा प्रभावित करती है. कुछ ऐसे भी लोग है जो ईसाई नहीं थे लेकिन फिर भी वो हमेशा यहां आते हैं. कोई  अपने परिवार के साथ यहां पहुंचा तो कोई अपने दोस्तों के साथ क्रिसमस मनाने के लिए चर्च आया हुआ था. कुछ लोग ऐसे भी है जो दिल्ली के रहने वाले नहीं हैं लेकिन फिर भी ख़ास तौर पर क्रिसमस के दिन यहां पहुंचे.

मुस्लिम समुदाय के लोग भी मौजूद

कुछ मुस्लिम समुदाय के लोग भी आज यहां चॉकलेट बांटते दिखे. उनका कहना है कि इस दुनिया में सबसे बड़ा मज़हब इंसानियत है, इसीलिए वो यहां आते हैं. यहां आकर गरीब बच्चों को कपड़े और चॉकलेट देते हैं और ख़ुशियां बांटते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें