scorecardresearch
 

छठ पर्व पर लगी पाबंदी को लेकर BJP सांसद मनोज तिवारी ने शुरू की रथ यात्रा

मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में जब साप्ताहिक बाजार, शराब के ठेके, मंदिर खुल गए हैं और मस्जिदों में नमाज पढ़ने पर पाबंदी नहीं है. इसके अलावा बस, ट्रेन और मेट्रो रेल चल रही है. साथ ही सरकार ने स्विमिंग पूल खोलने का आदेश दे दिया है. ऐसे में लाखों लोगों की आस्था के महापर्व छठ पूजा पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया है

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी बीजेपी सांसद मनोज तिवारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली सरकार पर मनोज तिवारी का हमला
  • छठ पूजा बैन के विरोध में शुरू करेंगे रथ यात्रा

दिल्ली बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा करने पर प्रतिबंध लगाने का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ रथ यात्रा की आज शनिवार से शुरुआत कर दी.

मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर दबाव बनाने के लिए सोनिया विहार में यमुना नदी स्थित छठ घाट से रथ यात्रा शुरू की. मनोज तिवारी ने कहा कि वो सभी सातों संसदीय क्षेत्रों में रथ यात्रा करेंगे.

बीजेपी नेता ने दिल्ली सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में जब साप्ताहिक बाजार, शराब के ठेके, मंदिर खुल गए हैं और मस्जिदों में नमाज पढ़ने पर पाबंदी नहीं है. इसके अलावा बस, ट्रेन और मेट्रो रेल चल रही है. साथ ही सरकार ने स्विमिंग पूल खोलने का आदेश दे दिया है. ऐसे में लाखों लोगों की आस्था के महापर्व छठ पूजा पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया है, जबकि छठ पूजा 2 महीने बाद होगी और छठ पूजा पर बहुत पहले प्रतिबंध लगा दिया है.

 

दिल्ली में पटाखे पहले से बैन

दिल्ली में प्रदूषण को देखते हुए पटाखों पर पहले से ही बैन लगा दिया गया है. मतलब इस बार भी दिवाली पर पटाखे नहीं चलेंगे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 सितंबर को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी थी. उन्होंने बताया कि वायु प्रदूषण के चलते इस साल भी पटाखों के स्टोरेज, बिक्री और इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है. दिल्ली में पिछले तीन साल से पटाखों के चलाने पर प्रतिबंध लगा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें