scorecardresearch
 

गौतम नवलखा ने मांगी जमानत, दिल्ली हाई कोर्ट ने NIA को भेजा नोटिस

भीमा कोरेगांव से जुड़े मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी से जवाब तलब किया है. इस केस में गौतम नवलखा की जमानत अर्जी के बाद जांच एजेंसी को नोटिस भेजा गया है.

दिल्ली हाई कोर्ट ने एनआईए को भेजा नोटिस दिल्ली हाई कोर्ट ने एनआईए को भेजा नोटिस

  • मेडिकल ग्राउंड पर एक्टिविस्ट ने मांगी जमानत
  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी से हाई कोर्ट ने मांगा जवाब

भीमा कोरेगांव से जुड़े मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से जवाब तलब किया है. इस केस में गौतम नवलखा की जमानत अर्जी के बाद जांच एजेंसी को नोटिस भेजा गया है. नवलखा मेडिकल ग्राउंड पर जमानत की मांग कर रहे हैं. नवलखा फिलहाल दिल्ली के तिहाड़ की जेल नंबर तीन में बंद हैं.

एक्टिविस्ट ने अपनी याचिका में कहा है कि वह एक वरिष्ठ नागरिक हैं जो कॉलोनिक पॉलीपोसिस, क्रोनिक गैस्ट्रिटिस और लैक्टोज की समस्या से पीड़ित हैं. हाल ही में सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि वो उच्च रक्तचाप से भी पीड़ित हैं. इसकी वजह से उनके लिए बीमारी का संकट बढ़ जाता है. याचिका में कहा गया है कि जेल में जैसा महौल होता है उसमें गौतम नवलखा कोरोना वायरस की चपेट में आ सकते हैं. अब इस मामले में 27 मई को सुनवाई होगी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

असल में, गौतम नवलखा ने इसी साल अप्रैल में राष्ट्रीय जांच एजेंसी के सामने आत्मसमर्पण किया था. नवलखा को उस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आत्मसमर्पण करने का आदेश दिया था. उन्हें 2018 के भीमा कोरेगांव दंगे में कथित संलिप्तता को लेकर अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत आरोपी बनाया गया है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

बता दें कि नवलखा उन पांच मानवाधिकार कायकर्ताओं में से एक हैं जिन्हें माओवादियों के साथ कथित संबंधों और भीमा कोरेगांव हिंसा में उनकी कथित संलिप्तता को लेकर गिरफ्तार किया गया था. हालांकि बाद में सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट ने उन्हें गिरफ्तारी से संरक्षण प्रदान कर दिया.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें