scorecardresearch
 

ढोंगी बाबा वीरेंद्र देव की गिरफ्तारी की मांग को लेकर AAP महिला विंग ने LG से मुलाकात की

आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के मुद्दे को लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) की महिला विंग ने उपराज्यपाल (LG) अनिल बैजल से शनिवार को मुलाकात की. महिला विंग ने एलजी से वीरेंद्र देव दीक्षित जैसे ढोंगी बाबा के अड्डों में फंसी बच्चियों और लड़िकयों को जल्द से जल्द बाहर निकलवाने की मांग की.

उप राज्यपाल से मिलीं AAP महिला विंग की कार्यकर्ता उप राज्यपाल से मिलीं AAP महिला विंग की कार्यकर्ता

आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के मुद्दे को लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) की महिला विंग ने उपराज्यपाल (LG) अनिल बैजल से शनिवार को मुलाकात की. महिला विंग ने एलजी से वीरेंद्र देव दीक्षित जैसे ढोंगी बाबा के अड्डों में फंसी बच्चियों और लड़िकयों को जल्द से जल्द बाहर निकलवाने की मांग की. साथ ही मामले में तेजी से कार्रवाई करते हुए वीरेंद्र देव को गिरफ्तार करने की भी मांग की.

आम आदमी पार्टी के महिला प्रतिनिधिमंडल में पार्टी की महिला संगठन की प्रदेश अध्यक्ष ऋचा पांडे मिश्रा, विधायक राखी बिड़लान औरभावना गौड़ शामिल रहीं. एलजी दफ्तर के बाहर महिला कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की. इस दौरान AAP कार्यकर्ताओं की संख्या को देखते हुए पुलिस को सुरक्षा के कड़े इंतजाम भी करने पड़े.

दिल्ली में पार्टी के महिला संगठन की प्रदेश अध्यक्ष ऋचा पांडे मिश्रा ने कहा कि दिल्ली की कानून व्यवस्था इतनी खराब हो चुकी है कि रोहिणी में पुलिस की नाक के नीचे आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम पर बच्चियों के शोषण का गोरखधंधा चल रहा था और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी. यह सब कुछ पुलिस और बड़े लोगों की मिलीभगत के बिना नहीं हो सकता और सीधे तौर पर यह दिल्ली पुलिस की चौतरफा नाकामी को ही दर्शाता है.

ऋचा पांडेय ने बताया कि उप राज्यपाल से मुलाक़ात करके यह गुज़ारिश की गई है कि वो इस मामले में पुलिस को निर्देशित करते हुए जल्द से जल्द ढोंगी बाबा को गिरफ्तार कराएं. साथ ही दिल्ली में अगर कोई और ऐसे मामले हों, तो उन्हें चिन्हित करके कार्रवाई कराई जाए, ताकि ऐसी जगहों पर फंसी महिलाओं और बच्चियों को बाहर निकाला जा सके.

आम आदमी पार्टी का आरोप है कि पहले दिल्ली पुलिस को हर थाने से 20 लाख इकठ्ठे करने पड़ते थे, जो अब एक करोड़ तक पहुंच गया हैं और वो पैसा बीजेपी के नेताओं को चढ़ाने पड़ते हैं. यही वजह है कि जब से बीजेपी केंद्र की सत्ता में आई है, तब से मकानों और दुकानों में चोरी की घटनाएं बढ़ी हैं. पार्किंग में वाहन चोरी की घटनाओं में भी इजाफा हुआ है. इतना ही नहीं, सभी प्रकार के अवैध धंधों को भी संरक्षण पुलिस की रज़ामंदी से ही मिल रहा है. चाहे वो नशा माफिया हो या शराब माफिया या फिर देह व्यापार में लिप्त लोग. सभी जमकर दिल्ली की जनता को प्रताड़ित कर रहे हैं और दिल्ली पुलिस बीजेपी नेताओं के इशारे पर उनसे संरक्षण की रकम वसूल रही है. लिहाजा अपराधी खुलेआम घूम रहे हैं.

AAP महिला विंग ने एलजी के सामने थाना लेवल पर कमेटी गठित करने की भी मांग रखी. पार्टी की महिला नेताओं ने NCRB के आंकड़ों का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि दिल्ली में महिलाओं पर हो रहे अपराध सभी मेट्रो शहरों के मुकाबले ज्यादा हैं. इसका केवल एक ही कारण है कि दिल्ली पुलिस अपने मालिकों के लिए चार गुना उगाही करती है और माफियाओं की संरक्षक बनी हुई है.

पार्टी की विधायक राखी बिड़लान ने कहा कि पहले की सरकारों और पुलिस की जानकारी में इस तरह के फर्ज़ी विश्वविद्यालय दिल्ली में चल रहे थे और पुलिस इस सम्बंध में कुछ नहीं कर रही थी. इस मामले में जब दिल्ली महिला आयोग सक्रिय हुआ, तब जाकर कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई हो पाई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें