scorecardresearch
 

विधानसभा चुनाव से पहले अनाधिकृत कॉलोनियों को लेकर भिड़े BJP और AAP

जहां बीजेपी के नेता अनाधिकृत कॉलोनियों में दौरा करने की तैयारियों में जुटे हैं, वहीं आम आदमी पार्टी बीजेपी के अभियान से ठीक पहले 22 सितंबर को धोखा दिवस मनाने की तैयारी में है.

आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी मार्लेना आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी मार्लेना

  • 23 सितंबर से मनोज तिवारी करेंगे अनाधिकृत कॉलोनियों का दौरा
  • 22 सितंबर को आम आदमी पार्टी मनाएगी धोखा दिवस

दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले सियासत अपने चरम पर पहुंच गई है. चुनावों में हमेशा अहम योगदान अदा करने वाले दिल्ली के अनाधिकृत कॉलोनियों को लेकर एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और आम आदमी पार्टी(AAP) आमने-सामने हैं.

जहां बीजेपी के नेता अनाधिकृत कॉलोनियों में दौरा करने की तैयारियों में जुटे हैं, वहीं आम आदमी पार्टी बीजेपी के अभियान से ठीक पहले 22 सितंबर को धोखा दिवस मनाने की तैयारी में है.

दरअसल, दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने घोषणा की थी कि 23 सितंबर से वह दिल्ली की अनाधिकृत कॉलोनियों के तहत आने वाले 22 विधानसभा क्षेत्रों में अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं को लोगों से संवाद करने के लिए भेजेगी. बीजेपी का दावा है कि 6 महीने के अंदर दिल्ली की सभी अवैध कॉलोनियों को रेगुलराइज कर लिया जाएगा.

बीजेपी इस अभियान के तहत अनाधिकृत कॉलोनियों में अपना वोट बैंक मजबूत करने की कोशिश में थी लेकिन उससे पहले ही आम आदमी पार्टी ने इस मुद्दे पर बीजेपी पर पलटवार कर दिया.

धोखा दिवस मनाएगी AAP

गुरुवार को आम आदमी पार्टी की प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज और आतिशी मरलेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घोषणा की कि बीजेपी के अभियान से 1 दिन पहले यानी 22 सितंबर को आम आदमी पार्टी दिल्ली भर में धोखा दिवस मनाएगी. पार्टी प्रवक्ता आतिशी कहती हैं कि बीजेपी भी अब कांग्रेस की तरह अवैध कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को धोखा देने पर उतर आई है.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जुलाई में केंद्रीय शहरी विकास मंत्री ने दावा किया था कि 1 महीने के भीतर दिल्ली की अवैध कॉलोनियों को हम पक्का कर देंगे लेकिन उनका वादा खोखला साबित हुआ. अब बीजेपी चुनाव के फिर को देखते हुए 6 महीने का वक्त मांग रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें