scorecardresearch
 

मनी लॉन्ड्रिंग में AAP नेता को ED का नोटिस, केजरीवाल बोले- दिल्ली में डराते रहे फिर भी 62 सीटें जीत ली

आम आदमी पार्टी के पंकज गुप्ता को ईडी द्वारा नोटिस दिया गया है. इस नोटिस के बाद आम आदमी पार्टी आगबबूला हो गई है और केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (PTI) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AAP नेता को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में नोटिस
  • केजरीवाल समेत अन्य नेता केंद्र पर भड़के

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने सोमवार को आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता को मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े एक मामले में नोटिस जारी किया है. ईडी ने पंकज गुप्ता को समन भेज अगले हफ्ते पूछताछ के लिए बुलाया है. 

किस मामले को लेकर भेजा गया है समन?

सूत्रों के मुताबिक, पंकज गुप्ता को जिस मामले में नोटिस जारी किया गया है वह पंजाब विधायक सुखपाल सिंह खैरा से जुड़ा है. इस मामले में ईडी पहले ही जांच कर रही है और इसी साल मार्च में सुखपाल सिंह खैरा के ठिकानों पर सर्च भी किया गया था. 

आम आदमी पार्टी (AAP) का हिस्सा रहे सुखपाल सिंह खैरा पर ईडी की नज़र तब पड़ी जब ड्रग ट्रैफिकिंग और फर्जी पासपोर्ट से जुड़ी दो एफआईआर की जांच शुरू की गई. साथ ही सुखपाल खैरा पर आम आदमी पार्टी के लिए अमेरिका में एक लाख डॉलर चंदा जुटाने की जांच की भी तलवार है. 

अरविंद केजरीवाल समेत AAP का केंद्र पर हमला

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मसले पर केंद्र को घेरा. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में वो हमें आईटी डिपार्टमेंट, सीबीआई, दिल्ली पुलिस से डराने की कोशिश करते हैं लेकिन हमने यहां पर 62 सीटें जीत ली. अब जब हम पंजाब, गोवा, गुजरात, उत्तराखंड और यूपी में बढ़ रहे हैं तो हमारे पीछे ईडी लगा दी गई है, बीजेपी कभी कामयाब नहीं हो पाएगी. 


आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा ने इस मसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. राघव चड्ढा ने कहा कि मोदी सरकार की सबसे पसंदीदा एजेंसी ईडी ने AAP को प्रेम पत्र लिखा है. ये दस सितंबर को भेजा गया है, 22 सितंबर को पंकज गुप्ता को ईडी के दफ्तर में बुलाया है. बीजेपी कितनी भी कोशिश कर ले, लेकिन हमें डरा नहीं पाएगी. 

राघव चड्ढा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता की वजह से नरेंद्र मोदी घबरा गए हैं और इसलिए ऐसे कदम उठा रहे हैं. ये सब पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के चुनाव को देखते हुए किया जा रहा है. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें