scorecardresearch
 

छत्तीसगढ़ : नक्सलियों के सबसे खतरनाक गढ़ में घुसकर कोबरा कमांडो ने चलाया 'ऑपरेशन प्रहार'

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में एक ऑपरेशन लांच किया गया, जिसमें नक्सलियों के एक बड़े ट्रेनिंग कैंप का खुलासा हुआ. कमांडो और नक्सलियों के बीच घंटों फायरिंग हुई, जिसमें कई नक्सली ढेर हो गए. वहीं, सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए.

नक्सली नक्सली

  • सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो का ऑपरेशन
  • नक्सलियों के एक बड़े ट्रेनिंग कैंप का खुलासा

छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो ने नक्सलियों के गढ़ में घुसकर उनकी मांद को ध्वस्त किया. छत्तीसगढ़ के बीजापुर के इरापल्ली में सीआरपीएफ की 151 बटालियन, कोबरा की 201, 204, 206 और 208 बटालियन ने 9 फरवरी को एक बड़ा ऑपरेशन लांच किया था.

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, जब यह ऑपरेशन छत्तीसगढ़ के बीजापुर में लांच किया गया तो नक्सलियों के एक बड़े ट्रेनिंग कैंप का खुलासा हुआ. जहां पर नक्सली बड़े स्तर पर ट्रेनिंग देने की सामग्री रखे हुए थे. सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो और नक्सलियों के बीच में घंटों तक फायरिंग हुई. इस फायरिंग के दौरान सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए और डिप्टी कमांडेंट घायल हो गए, पर सुरक्षाबलों ने इस ऑपरेशन को ऐसे अंजाम दिया कि नक्सलियों के छक्के छूट गए.

मुठभेड़ में कई नक्सली ढेर

सीआरपीएफ की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक, इस मुठभेड़ में कई नक्सली ढेर हुए हैं. नक्सलियों के पीएलजीए बटालियन 1 का सबसे बड़ा सरगना मांडवी इस पूरे एरिया में हथियार बनाने की फैक्ट्री चला रहा था. इसके साथ ही वह नक्सलियों को तीन तरफ से घिरी पहाड़ियों के बीच में ट्रेनिंग भी दे रहा था.

ये भी पढ़ें- जेएनयू में CAA के विरोध में चिदंबरम का भाषण, बताया क्यों नहीं गए शाहीन बाग

कमांडो जब इस एरिया में पहुंचे तो हथियारों से लैस करीब 200 नक्सलियों ने सीआरपीएफ और कोबरा कमांडो के ऊपर हमला कर दिया. इस हमले के दौरान सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें नक्सलियों के गढ़ को ध्वस्त किया गया.

गढ़ में बंदूक बनाने की फैक्ट्री

नक्सलियों के इस गढ़ में बंदूक बनाने की फैक्ट्री मौजूद थी. फैक्ट्री में सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो ने भारी मात्रा में बंदूक बनाने वाले लोहे की नलियां, गोलियां, आईडी और 12 बोर के तमंचे, मोर्टार बम बरामद किए हैं. सीआरपीएफ से मिली जानकारी के मुताबिक, पहाड़ के तीनों तरफ से घिरे इस कैंप में नक्सलियों ने रहने के लिए जगह बना रखी थी. इसके साथ ही नक्सलियों ने यहां पर एडवांस ट्रेनिंग के लिए एरिया और लड़ने का मोर्चा भी बना रखा था. यही नहीं आईईडी और बम ब्लास्ट करने के लिए स्प्लिंटर यहां पर भारी संख्या में जमा कर रखा गया था.

ये भी पढ़ें- AAP सांसद संजय सिंह बोले- देश में भी लागू करेंगे केजरीवाल का दिल्ली मॉडल

सीआरपीएफ से मिली जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों ने यहां घायल नक्सलियों के इलाज के लिए दवाइयां और छोटे हॉस्पिटल भी बना रखे थे. बता दें कि सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो और नक्सलियों के बीच हुई फायरिंग में कोबरा कमांडो ने 8 से 10 नक्सलियों को ढेर कर दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें