scorecardresearch
 

येस बैंक: रविशंकर प्रसाद का आरोप- कांग्रेस सरकार में दिए गए लोन से आया संकट

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि जिन कर्जों की वजह से येस बैंक की ये स्थिति हुई है वो लोन तब दिए गए जब देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी चिदंबरम थे.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फोटो- पीटीआई) केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फोटो- पीटीआई)

  • 'येस बैंक संकट के लिए कांग्रेस जिम्मेदार'
  • 'कट लेने का चलता था सिस्टम'
  • खाताधारकों का नहीं होगा कोई नुकसान

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि जिन कर्जों की वजह से येस बैंक की ये स्थिति हुई है वो लोन तब दिए गए जब देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी चिदंबरम थे. पटना में आजतक से उन्होंने कहा कि सरकार पैसा जमा करने वालों को कोई नुकसान नहीं होने देगी. उन्होंने इस संकट के लिए यूपीए सरकार पर हमला बोला.

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि येस बैंक मामले में सरकार सख्ती से कार्रवाई कर रही है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया इसी दिशा में आगे बढ़ रहा है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विस्तार से बताया है कि जिस लोन के कारण बैंक की हालत डांवाडोल हुई है वो कर्ज तब दिया गया था, जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री और पी चिदंबरम वित्तमंत्री थे.

कट लेने का सिस्टम चलता था

यूपीए सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि उस वक्त फोन बैंकिंग होती थी. उन्होंने कहा, "इसको लोन दो...उसको लोन दो, इसको लोन दो और उससे कट लो, ये जो कट लेने का सिस्टम चलता था उसके कारण संस्थान परेशान हो रहे हैं." उन्होंने कहा कि हमारी सरकार कार्रवाई कर रही है किसी भी खाताधारक का अहित नही होगा.

पढ़ें- YES BANK के गुनहगार कौन? राणा कपूर की पत्नी-बेटियां 61 कंपनियों में डायरेक्टर

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि येस बैंक की स्थिति के लिए कांग्रेस जिम्मेवार है. रविशंकर प्रसाद ने रविवार को पटना में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आईटी क्षेत्र में कार्यरत समाज सेविकाओं और महिला उद्यमियों के साथ मुलाकात की और उन्हें प्रधानमंत्री से ट्विटर अकाउंट से जुड़ने की सलाह दी.

ED की हिरासत में भेजे गए राणा कपूर

बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रविवार को मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में भारत के सबसे हाई प्रोफाइल बैंकरों में से एक येस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को गिरफ्तार कर लिया है. लगभग 15 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया. इसके बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया. अदालत ने उन्हें 11 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है.

पढ़ें- 1 करोड़ में दामाद के मर्डर की दी थी सुपारी, अब क‍िया सुसाइड

येस बैंक का संकट सामने आने के कुछ दिनों बाद कपूर को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) और अन्य अपराधों के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. विवादास्पद रियल्टी फर्म दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉपोर्रेशन लिमिटेड (डीएचएफएल) के साथ कपूर और उनके परिजनों के संबंध का खुलासा होने के बाद बाद उनकी गिरफ्तारी हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें