scorecardresearch
 

बिहार के सीएम जीतन राम मांझी बोले, 'छोटे पैमाने पर कालाबाजारी और टैक्स चोरी गलत नहीं'

देश में बात विदेशों से कालाधन वापस लाने की हो रही है लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी उल्टी गंगा बहाने में लगे हैं.

देश में बात विदेशों से कालाधन वापस लाने की हो रही है लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी उल्टी गंगा बहाने में लगे हैं.

बिहार चैम्बर ऑफ कॉमर्स के कार्यक्रम में तालियों की गड़गड़ाहट के बीच मांझी ने ऐलान किया कि अगर कोई कारोबारी अपने बच्चे को अच्छी तालीम देने या पेट पालने के लिए कालाबाजारी करता है तो उसे माफ कर देंगे.

बिहार के सीएम ने कहा, 'अगर आप कालाबाजारी करते हैं, तो अपने पेट के लिए. अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए. मुझे नहीं लगता है कि आपके बच्चे विदेश में पढ़ते होंगे. बहुत भी करते होंगे तो आप अपने बच्चे को पटना या फिर किसी और छोटे शहर में पढ़ाते होंगे. अगर उसके लिए कालाबाजारी करते हैं तो मैं आपको धन्यवाद देता हूं..... अगर छोटी-मोटी गलतियां होंगी तो बिहार के मुख्यमंत्री होने के नाते हम आपको माफ कर देंगे.'

जिंदाबाद के नारों के बीच मांझी ने कहा कि उनकी चिंता भ्रष्टाचार के तालाब में तैर रहे मगरमच्छ हैं, वो छोटी मछलियों को परेशान करना नहीं चाहते.

अब सवाल उठता है कि जब कानून के रखवाले ऐसी बात करें तो छोटी मछलियों को मगरमच्छ बनते कितनी देर लगेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें