scorecardresearch
 

गांधी के समर्थक एक हो जाएं तो देश को बांटना संभव नहीं: कन्हैया

कन्हैया कुमार ने कहा कि आज मैंने जन-गण-मन यात्रा पूरी कर ली, हालांकि इस दौरान भीड़ द्वारा नौ मौकों पर मुझ पर हमला किया गया. अपने संबोधन से पहले कन्हैया ने वहां मौजूद लोगों से राष्ट्रगान भी गवाया.

कन्हैया कुमार कन्हैया कुमार

  • मैं पिछले तीन रातों से सो नहीं पा रहा हूं
  • नार्थ-ईस्ट दिल्ली धू-धू कर जल रही है

बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में गुरुवार को 'संविधान बचाओ, नागरिकता बचाओ' महारैली का आयोजन किया गया था. इस मौके पर सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने मंच से लोगों को संबोधित करते हुए दिल्ली की हिंसा का जिक्र किया. कन्हैया ने कहा कि आज देश में जो कुछ भी हो रहा है उसकी वजह से मैं पिछले तीन रातों से सो नहीं पा रहा हूं. अगर आज दिल्ली में गांधी होते तो नार्थ-ईस्ट दिल्ली इस तरह धू-धू कर नहीं जल रही होती.

कन्हैया कुमार ने कहा कि आज मैंने जन-गण-मन यात्रा पूरी कर ली, हालांकि इस दौरान भीड़ द्वारा नौ मौकों पर मुझ पर हमला किया गया. अपने संबोधन से पहले कन्हैया ने वहां मौजूद लोगों से राष्ट्रगान भी गवाया.

संबोधन के दौरान उन्होंने कहा, 'दिल्ली की हिंसा में जो लोग मारे गए हैं वो उत्तर प्रदेश या बिहार के हैं.'

कन्हैया ने आगे कहा, 'अगर गांधी में यकीन करने वाले एक साथ हो जाएंगे तो गोडसे समर्थक इस तरह देश को बांटने की हिम्मत नहीं कर सकते.

इतना ही नहीं कन्हैया कुमार ने अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि बीसीसीआई सेक्रेटरी किसी किसान के बेटे को बनना चाहिए जो यह कह सके कि उसके पिता दंगाई या तड़ीपार नहीं हैं.

और पढ़ें- दिल्ली सरकार का ऐलान, हिंसा में मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख मुआवजा

वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे को लेकर कन्हैया ने प्रधनमंत्री का नाम लिए बिना कहा कि ट्रंप का तलवा चाटने वाले गुलाम हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें