scorecardresearch
 

रेलवे ने उठाया बिहार में कानून व्यवस्था पर सवाल

घोड़ासहन में रेलवे ट्रैक पर आईडी प्लांट करना, समस्तीपुर में रेल ट्रैक पर स्लीपर रखने, अब बक्सर में ट्रैक पर ब्लास्ट के बावजूद किसी बड़ी घटना को टालने के पीछे रेल ने अतिरिक्त निगरानी को बताया.

रेलवे ट्रैक को लगातार बनाया जा रहा निशाना रेलवे ट्रैक को लगातार बनाया जा रहा निशाना

बिहार के बक्सर में रेल ट्रैक पर ब्लास्ट मामले में रेलवे ने एक बार फिर रेल परिचालन को टारगेट करने का आरोप लगाया है. बक्सर में सोमवार को फिर से रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट हुआ. हांलाकि उससे कोई क्षति नहीं हुई, लेकिन करीब एक घंटे से ज्यादा मुगलसराय-पटना रेलमार्ग पर यातायात रोक दिया गया था. पूर्व मध्य रेल के मुख्य जन संपर्क पदाधिकारी अरविंद रजक ने बताया की पिछले कुछ दिनों में रेल ट्रैक को निशाना बनाने का ट्रेंड दिख रहा है, जिसको देखते हुए रेलवे ने रेल ट्रैक की सुरक्षा के मद्देनजर निगरानी बढ़ा दी है.

घोड़ासहन में रेलवे ट्रैक पर आईडी प्लांट करना, समस्तीपुर में रेल ट्रैक पर स्लीपर रखने, अब बक्सर में ट्रैक पर ब्लास्ट के बावजूद किसी बड़ी घटना को टालने के पीछे रेल ने अतिरिक्त निगरानी को बताया. इन सब के बीच रेलवे अधिकारी ने इन घटनाओं को लेकर राज्य सरकारों की कानून व्यवस्था को जिम्मेदार ठहराया है. रेलवे अधिकारी ने कहा की अगर राज्य में कानून व्यवस्था अगर ठीक होगी तो ऐसी घटना नहीं होगी.

जब अपर इंडिया एक्सप्रेस बक्सर से वरुणा के लिए निकली है, जब तीन चार कोच गुजरे तो ब्लास्ट हुआ. ये संयोग है या सौभाग्य कि कोई डैमेज नहीं है, ना जान-माल की क्षति हुई. ब्लास्ट दोपहर 12.05 मिनट पर हुआ. शायद जो भी डिवाइस था वो लो इंटेंसिटी का था. यहां रेल यातायात को डिस्टर्ब करने की एक्टिविटी बढ़ी है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है कि आखिर इस ब्लास्ट के पीछे कौन है. ट्रेन में सवार एक यात्री ने बताया कि उसने एक आदमी को ट्रेन पर कुछ फेंकते हुए देखा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें