scorecardresearch
 

पंचतत्व में विलिन हुए रघुवंश बाबू, छोटे बेटे ने दी मुखाग्नि

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का आज उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार होगा. उनका पार्थिव शरीर सोमवार सुबह 9 बजे पटना स्थित कौटिल्य नगर से वैशाली स्थित उनके पैतृक गांव पानापुर पहेमी (शाहपुर) ले जाया जाएगा.

रघुवंश प्रसाद सिंह (फाइल फोटो-PTI) रघुवंश प्रसाद सिंह (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रविवार को हुआ था रघुवंश बाबू का निधन
  • कल शाम ही पटना लाया गया पार्थिव शरीर
  • पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ समाजवादी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह सोमवार की शाम पंचतत्व में विलीन हो गए. उनकी अंत्येष्टि पूरे राजकीय सम्मान के साथ वैशाली जिले के महनार में गंगा नदी के हसनपुर घाट पर की गई. इससे पहले, पूर्व केंद्रीय मंत्री सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पानपुर शाहपुर पहुंचा, जहां सैकड़ों लोग उनके अंतिम दर्शन के लिए एकत्र हुए थे.

इसके बाद उनकी अंतिम यात्रा उनके गांव से शुरू हुई और गंगा के तट हसनपुर घाट पहुंची. इस क्रम में लोगों ने 'रघुवंश प्रसाद सिंह अमर रहें', 'जब तक सूरज-चांद रहेगा, रघुवंश तेरा नाम रहेगा' जैसे नारों से गुंजायमान होता रहा.

इस दौरान एकत्रित लोगों ने अश्रुपूर्ण नेत्रों से उन्हें अंतिम विदाई दी. इस मौके पर बिहार के मंत्री नीरज कुमार, जय कुमार सिंह, विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव सहित कई गणमान्य लोगों से लेकर आम लोग तक उपस्थित रहे.

इससे पहले, सोमवार को दिन में रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर उनके गृह जिले वैशाली पहुंचा तो उनके अंतिम दर्शन के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा.

उल्लेखनीय है कि 74 वर्षीय रघुवंश प्रसाद सिंह का रविवार को दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया था. इसके बाद रविवार की शाम उनका पार्थिव शरीर पटना लाया गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें