scorecardresearch
 

पटना: चिड़ियाघर में अचानक एक शेर की मौत, कोरोना रिपोर्ट का इंतजार

पटना के चिड़ियाघर में अचानक एक शेर की मौत हो गई है, शेर की उम्र साढ़े सात साल थी. इस शेर का जन्म इसी चिड़ियाघर में हुआ था, 23 नवंबर की सुबह अचानक शेर की मौत हो गई, वहीं कोरोना जांच के लिए सैंपल भेज दिया गया है जांच रिपोर्ट आना बाकी है.

पटना के चिड़ियाघर में अचानक एक शेर की मौत (फोटो आजतक) पटना के चिड़ियाघर में अचानक एक शेर की मौत (फोटो आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पटना चिड़ियाघर में शेर की मौत
  • किसी बीमारी से ग्रसित नहीं था शेर

पटना के चिड़ियाघर में अचानक एक शेर की मौत हो गई है, शेर की उम्र साढ़े सात साल थी. इस शेर का जन्म इसी चिड़ियाघर में हुआ था, 23 नवंबर की सुबह अचानक शेर की मौत हो गई, वहीं कोरोना जांच के लिए सैंपल भेज दिया गया है जांच रिपोर्ट आना बाकी है.

बताया जा रहा है कि शेर को किसी तरह की कोई बीमारी नही थी. वो पूरी तरह से स्वस्थ था लेकिन एक दिन पहले उसको हल्का सा बुखार आया था. जिसका इलाज किया जा रहा था.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि सेप्टीसीमिया के कारण शेर की मौत हुई है, जिसे एक तरह से हार्टअटैक भी कह सकते हैं. मृत्यु के कारण की जांच के लिए लिवर, किडनी सहित रक्त नमूने को आइवीआरआइ इज्जतनगर, बरेली और बिहार वेटनरी कॉलेज, पटना को भेजा गया है.

चिड़ियाघर के निदेशक अमित कुमार ने बताया कि उद्यान के पशु चिकित्सक सहित बिहार वेटनरी कॉलेज की पांच सदस्यीय विशेषज्ञों की टीम की उपस्थिति में पोस्टमार्टम कराया गया. मौत का कारण प्रथम दृष्टया सेप्टीसीमिया शॉक बताया गया है. हालांकि अभी विस्तृत रिपोर्ट नहीं प्राप्त हुई है.

देखें: आजतक LIVE TV

पशु चिकित्सक को कहना है कि सेप्टीसीमिया या सेप्सिस एक गंभीर रक्त प्रवाह संक्रमण है. इसे बैक्टीरिया या रक्त विषाक्तता के रूप में जाना जाता है. फेफड़े या त्वचा में जीवाणु संक्रमण होने के बाद यह रक्त में प्रवेश करता और पूरे शरीर में फैल जाता है. शुरुआती अवस्था में जानकारी नहीं हो पाने से समुचित उपचार नहीं हो पाता है, इसलिए मृत्यु दर बहुत ज्यादा है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें