scorecardresearch
 

शरद यादव को जेडीयू से निकाला जाना तय, लालू की रैली में करेंगे शिरकत

लालू द्वारा जारी की गई लिस्ट में जिन राजनेताओं के आने की पुष्टि की गई है उनमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अलावा जेडीयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद शरद यादव का नाम है. इन नेताओं के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और डॉक्टर सीपी जोशी भी लालू की रैली में शामिल होंगे.

शरद यादव शरद यादव

जेडीयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद शरद यादव का पार्टी से निकाला जाना अब लगभग तय है. 27 अगस्त को राष्ट्रीय जनता दल की पटना के गांधी मैदान में होने वाली “देश बचाओ, भाजपा भगाओ” रैली में शरद यादव शिरकत करेंगे. इस बात की जानकारी शुक्रवार को लालू प्रसाद यादव के दफ्तर से दी गई. लालू ने उन नेताओं की लिस्ट जारी की जिनका उनकी रैली में आने का कार्यक्रम तय है. लालू द्वारा जारी की गई लिस्ट में जिन राजनेताओं के आने की पुष्टि की गई है उनमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अलावा जेडीयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद शरद यादव का नाम है. इन नेताओं के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और डॉक्टर सीपी जोशी भी लालू की रैली में शामिल होंगे.

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले महीने महागठबंधन से अलग होने के बाद भाजपा के साथ गठबंधन करके नई सरकार बना ली थी और यह बात शरद यादव को काफी नागवार गुजरा. हाल में कई मौकों पर शरद यादव ने न केवल नीतीश कुमार के फैसले को गलत ठहराया बल्कि उन पर 2015 के जनादेश का अपमान का आरोप भी लगाया. पिछले हफ्ते शरद यादव ने पटना में एक सम्मेलन किया जिसमें उन्होंने कहा कि भले ही महागठबंधन बिहार में टूट गया हो, लेकिन जनता के बीच महागठबंधन जारी है और उनका गठबंधन आरजेडी के साथ जारी है.

शरद को जदयू की चेतावनी

पिछले महीने के राजनीतिक घटनाक्रम के बाद नीतीश और शरद यादव के बीच में शीत युद्ध चल रहा है. शरद यादव के बागी तेवर के बाद इस बात की भी अटकले लगाई जा रही है कि उनको जेडीयू से निकाला जा सकता है. ऐसे में जेडीयू के महासचिव केसी त्यागी ने भी स्पष्ट कर दिया है कि अगर शरद यादव ने लालू की रैली में शिरकत की तो उसी दिन उनका पार्टी से निकाला जाना तय है. जनता दल यू ने पटना के गांधी मैदान में आरजेडी की रैली में शरद यादव को भाग नहीं लेने की चेतावनी दी है. जबकि शरद यादव ने दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वह आरजेडी की रैली में हर हाल में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि यह आरजेडी की नहीं महागठबंधन की रैली है. जनता दल यू के राष्ट्रीय महासचिव और प्रवक्ता के सी त्यागी ने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को पत्र लिखकर कहा है कि  अखबारों में आरजेडी की रैली में आपके शामिल होने का बयान पढ़ कर आश्चर्य और दु:ख हुआ क्योंकि आरजेडी ने इस रैली का आयोजन अपने परिवार के लोगों के भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के लिए किया है. उन्होंने कहा इस रैली में आपकी उपस्थिति से निश्चित होगा कि आपने न सिर्फ उच्च आदर्शों और सिद्धांतों के खिलाफ आचरण किया है बल्कि स्वेच्छा से जदयू का त्याग भी कर दिया है. अफसोस है कि आप पटना में ही समानांतर पार्टी विरोधी गतिविधियां संचालित करते रहे और आपने पार्टी के मंच को अपनी बात रखने का उपयुक्त मंच नहीं माना. ऐसे में आशा है कि आप नीति, सिद्धांत और आदर्शों को प्राथमिकता देते हुए भ्रष्टाचार बचाने के नाम पर आयोजित आरजेडी की रैली में शामिल होने से परहेज करेंगे.

अब जबकि लालू प्रसाद यादव की तरफ से शरद यादव का उनकी रैली में शामिल होने की घोषणा हो चुकी है, बस अब इंतजार है 27 अगस्त का. इधर शरद यादव ने लालू की रैली में शिरकत की वहीं उनको जेडीयू से निकाला जाएगा.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें