scorecardresearch
 

हार्दिक पटेल ने बनाया अपनी गुजरात वापसी का प्लान, नीतीश कुमार के साथ करेंगे किसान महासभा

हार्दिक पटेल ने मंगलवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पटना में मुलाकात की और उन्हें गुजरात में होने वाले इस किसान महा सम्मेलन में शिरकत करने का न्यौता दिया.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार के साथ हार्दिक पटेल बिहार के सीएम नीतीश कुमार के साथ हार्दिक पटेल

अखिल भारतीय पटेल नवनिर्माण सेना के नेता हार्दिक पटेल ने अपनी गुजरात वापसी का प्लान तैयार कर लिया है. दरअसल हार्दिक पटेल को गुजरात उच्च न्यायालय ने 6 महीने के लिए राज्य से बाहर रहने का आदेश देते हुए उन्हें निर्वासित कर दिया था. 6 महीने का समय पूरा होने के बाद हार्दिक पटेल अगले साल जनवरी में वापस लौटेंगे और लौटते ही 28 जनवरी को राज्य में एक बड़ी किसान महासभा करेंगे. खास बात यह है कि हार्दिक पटेल की गुजरात वापसी के मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी उनके साथ नजर आ सकते हैं.

इसी को लेकर हार्दिक पटेल ने मंगलवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पटना में मुलाकात की और उन्हें गुजरात में होने वाले इस किसान महा सम्मेलन में शिरकत करने का न्यौता दिया. सूत्रों के मुताबिक हार्दिक पटेल यह किसान महासभा मेहसाना, राजकोट और सूरत में कर सकते हैं. नीतीश कुमार के साथ साझा किसान महासभा करने के पीछे हार्दिक पटेल की कोशिश यह होगी कि वह अगले साल दिसंबर 2017 में होने वाले गुजरात चुनाव से पहले पटेल समुदाय को भाजपा के खिलाफ एकजुट कर सके.

'किसान महासभा के लिए नीतीश को आमंत्रण'
हार्दिक पटेल ने कहा, '28 जनवरी को मैं गुजरात में किसान महासभा करूंगा और उसी के लिए मैंने नीतीश कुमार से मिलकर उन्हें आमंत्रित किया है. गुजरात में इस वक्त विनाश की राजनीति चल रही है.' बीजेपी पर हमला करते हुए हार्दिक पटेल ने इस बात पर जोर दिया कि सभी को मंडल आयोग के मुताबिक आरक्षण मिलना चाहिए.

'नोटबंदी से सिर्फ अमीरों को फायदा'
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लाई गई नोटबंदी नीति का विरोध करते हुए हार्दिक पटेल ने कहा कि नोटबंदी से सिर्फ अमीरों और औद्योगिक घरानों को फायदा हो रहा है. हार्दिक पटेल ने कहा कि नोट बंदी की वजह किसान और मजदूर आज सड़कों पर लाइन लगाकर खड़े हैं. हार्दिक पटेल ने पूछा, 'हम सभी भ्रष्टाचार के विरोध में हैं. क्या किसानों और मजदूरों के पास काला धन है? काला धन अडानी और अंबानी जैसे लोगों के पास है. क्या किसी ने देखा है अरुण जेटली और नितिन गडकरी के बेटे को एटीएम या बैंक के बाहर लाइन में खड़े?'

'सीएम नीतीश से मुलाकात गैर राजनीतिक'
हार्दिक पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लाए गए नोटबंदी को तभी सफल माना जाएगा जब 50 दिन के बाद एटीएम और बैंक के बाहर लंबी-लंबी कतारें खत्म हो जाएंगी और अगर ऐसा नहीं होता है, तो फिर नोटबंदी को विफल प्रयास माना जाएगा. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ पटना में हुई मुलाकात को हार्दिक पटेल ने गैर राजनीतिक कहा और आगामी उत्तर प्रदेश चुनाव में जनता दल यूनाइटेड को समर्थन करने को लेकर कुछ नहीं कहा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें