scorecardresearch
 

किसानों की आय बढ़ाने के लिए देश का पहला टिम्बर मार्ट बिहार में: सुशील मोदी

इस टिंबर मार्ट में किसानों को यह विकल्प भी मिलेगा कि जब उनके पेड़ को अच्छी कीमत मिले तब बेचे. मोदी ने जानकारी दी कि वन व पर्यावरण विभाग ने टिम्बर मार्ट के लिए ई-मार्केट वेबसाइट और एप्स भी तैयार किया है.

सुशील कुमार मोदी सुशील कुमार मोदी

बिहार सरकार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया है कि देश का पहला टिम्बर मार्ट इस वित्तीय वर्ष में वैशाली के हाजीपुर में प्रारंभ हो जायेगा, जहां किसान अपने पेड़ों को बेच कर अपनी आमदनी बढ़ा सकेंगे. मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री की किसानों की आय दोगुनी करने की योजना को इससे बल मिलेगा. यह टिम्बर मार्ट वानिकी करने वाले किसानों के लिए ई-मार्केट का काम करेगा, जहां उन्हें पेड़ काट कर लाने की आवश्यकता नहीं होगी बल्कि खरीददार खुद उनके खेत से पेड़ काट कर ले जायेगा.

इस टिंबर मार्ट में किसानों को यह विकल्प भी मिलेगा कि जब उनके पेड़ को अच्छी कीमत मिले तब बेचे. मोदी ने जानकारी दी कि वन व पर्यावरण विभाग ने टिम्बर मार्ट के लिए ई-मार्केट वेबसाइट और एप्स भी तैयार किया है.

मोदी ने कहा कि हरियाली मिशन के अन्तर्गत विगत चार-पांच वर्षों में बिहार में जल्द तैयार होने वाले करोड़ों पौधों का रोपण किया गया जो अब परिपक्व हो गए हैं. 2013-14 में कृषि वानिकी के तहत 71.06 लाख, 14-15 में 1.03 करोड़, 2015-16 में 95.17 लाख और 2016-17 में 94.63 लाख पोपुलर, कदम्ब, सेमल व शिशम आदि के पौधे लगाए गए. इस वर्ष 1.5 करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य है. इतनी बड़ी संख्या में पौधारोपण के बाद परिपक्व हुए पेड़ों को बाजार उपलब्ध कराने की समस्या का समाधान और किसानों को वाजिब कीमत दिलाने में टिम्बर मार्ट सहायक होगा.

मोदी ने बताया कि हाजीपुर बाजार समिति प्रागंण की आधे एकड़ जमीन पर टिम्बर मार्ट का निर्माण कराया जा रहा है, जहां वन विभाग के अधिकारियों के साथ आरा मिल मालिक एसोसिएशन के प्रतिनिधि होंगे जो किसानों को उनके पेड़ों की वाजिब कीमत दिलाने में सहयोग करेंगे. किसान अपने बेचने योग्य पेड़ों की संख्या, गुणवत्ता आदि के बारे में सूचित कर खरीददारों से वे मोलभाव कर कीमत तय करेंगे.  

उपमुख्यमंत्री के अनुसार हरियाली मिशन के तहत की गई वानिकी का सुखद परिणाम बिहार के किसानों को टिम्बर मार्ट के माध्यम से मिलेगा, जिससे वे और ज्यादा पौधारोपण के लिए प्रोत्साहित होंगे. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें