scorecardresearch
 

पूर्व सांसद अरुण कुमार की PM मोदी को चिट्ठी, चिराग की 'राजनीतिक हत्या' रोकने की लगाई गुहार

पिछले कई दिनों से एलजेपी में जारी सियासी बवाल के बीच पूर्व सांसद अरुण कुमार ने पीएम मोदी को लेटर लिखा है. इस लेटर के जरिए अरुण कुमार ने अपील की है कि पीएम मोदी चिराग पासवान की राजनीतिक हत्या को रोकें. अरुण कुमार एनडीए का हिस्सा भी रह चुके हैं.

पीएम मोदी और चिराग पासवान पीएम मोदी और चिराग पासवान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूर्व सांसद अरुण कुमार की पीएम मोदी को चिट्ठी
  • चिराग की राजनीतिक हत्या रोकने की लगाई गुहार
  • कभी एनडीए का हिस्सा भी रह चुके हैं अरुण कुमार

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में चिराग पासवान और उनके चाचा पशुपति पारस में जारी सियासी घमासान के बीच पूर्व सांसद अरुण कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा है. कभी एनडीए का हिस्सा रहे अरुण कुमार ने पीएम मोदी से चिराग पासवान की राजनीतिक हत्या रोकने की गुहार लगाई है. 

अपने पत्र में अरुण कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी को याद दिलाया है कि किस तरह से नीतीश कुमार ने उन्हें राजनीतिक अछूत बनाते हुए उनके सामने से थाली खींची थी. अरुण कुमार ने पत्र में यह भी कहा कि चिराग पासवान ने बतौर पीएम उम्मीदवार उनका समर्थन किया था, इसलिए उनकी राजनीतिक हत्या को पीएम मूकदर्शक बनकर नहीं देखें. वहीं, इस पूरे मुद्दे पर पूर्व सांसद अरुण कुमार शुक्रवार दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करने जा रहे हैं.

बता दें कि इस समय एलजेपी का दो धड़ा एक-दूसरे के आमने-सामने है. चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस को पार्टी ने नया अध्यक्ष चुन लिया. पटना में आज हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पशुपति पारस को नया अध्यक्ष चुने जाने का फैसला लिया गया. बैठक में चारों सांसद भी शामिल रहे.  

एलजेपी में पिछले दिनों बवाल तब शुरू हुआ था, जब चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस ने चार सांसदों के साथ मिलकर दूसरा रुख अपना लिया था. पशुपति पारस को संसदीय दल का नेता भी चुन लिया गया था. लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने इस प्रस्ताव को मंजूर कर लिया था. वहीं, चिराग पासवान ने इसे असंवैधानिक करार दिया है.

चिराग ने पिछले दिनों प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा था कि यदि चाचा बोलते तो उन्हें ही संसदीय दल का नेता बना देता. उन्होंने कहा था. ''अब यह लड़ाई लंबी चलेगी. रामविलास पासवान का बेटा हूं, पहले भी लड़ा था और आगे भी लड़ूंगा.''

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें