scorecardresearch
 

टूथपिक से वोटिंग, PPE किट में एजेंट, ऐसे हो सकते हैं बिहार विधानसभा चुनाव

चुनाव आयोग ने कोरोना संकट का ध्यान रखते हुए बिहार चुनाव प्रचार के तौर-तरीके को लेकर दिशा-निर्देशों का एक प्रारूप तैयार किया है. आयोग ने इस प्रारूप को बिहार ने प्रमुख राजनीतिक दलों को प्रारूप भेजा है और उस पर उनसे सुझाव और सलाह मांगी है. इसमें मास्क लगाने से लेकर पीपीई किट और बूथों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था करने का नियम रखा गया है.

पीपीई किट में मतदान करते हुए (फाइल-फोटो) पीपीई किट में मतदान करते हुए (फाइल-फोटो)

  • बिहार चुनाव में बड़ी रैलियों पर होगी रोक
  • पोलिंग बूथ पर एजेंट पीपीई किट पहनेंगे

कोरोना संक्रमण के संकट के बीच बिहार विधानसभा चुनाव को समय पर कराने को लेकर निर्वाचन आयोग मंथन कर रहा है. ऐसे में व्यापक विचार-विमर्श के बाद चुनाव आयोग ने कोरोना संकट का ध्यान रखते हुए बिहार चुनाव प्रचार के तौर-तरीके को लेकर दिशा-निर्देशों का एक प्रारूप तैयार किया है. आयोग ने इस प्रारूप को बिहार ने प्रमुख राजनीतिक दलों को भेजा है और उस पर उनसे सुझाव और सलाह मांगी है.

बिहार इन दिनों दोहरी चुनौतियों से जूझ रहा है. एक तरफ कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरों से बिहार एक नया हॉटस्पॉट बनता जा रहा है तो दूसरी तरफ बाढ़ ने लाखों लोगों की जिंदगी मुहाल और तबाह कर दी है. ऐसे में चुनाव आयोग के सामने बिहार चुनाव कराना एक बड़ी चुनौती है. इसे लेकर चुनाव आयोग के सचिव एन टी भूटिया ने शुक्रवार को जारी पत्र के माध्यम से 31 जुलाई तक सभी राजनीतिक दलों को सुझाव व सलाह देने का निर्देश दिया है ताकि उसके आधार पर निर्वाचन आयोग के द्वारा दिशा निर्देश जारी किया जा सके.

ये भी पढ़ें: बिहार चुनाव से पहले कोरोना-बाढ़, आपदा को अवसर में बदल पाएंगे नीतीश?

1. मास्क पहनाना- चुनाव में बड़े समारोहों के प्रचार या बैठक के दौरान सभी लोगों को मास्क पहनना जरूरी.

2. सोशल डिस्टेंसिंग- सार्वजनिक स्थलों पर निर्धारित सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.

3. रैलियों पर रोक- चुनाव प्रचार के दौरान बड़ी संख्या में भीड़ एकत्र होने पर रोक होगी. धार्मिक स्थानों सहित बड़े सार्वजनिक समारोहों पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा.

4. स्क्रीनिंग-चुनावी जनसभा और बैठकों के दौरान थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन की व्यवस्था होनी चाहिए.

5. पोलिंग बूथों- बूथों पर मतदाताओं की संख्या कम करनी होगी ताकि ज्यादा लोगों की भीड़ वोटिंग के दौरान बूथों पर जुट न सके.

6. पीपीई किट-बिहार चुनावों के लिए चुनाव आयोग राज्य के प्रत्येक बूथ में मतदाताओं की संख्या पर एक कैप लगाने, पीपीई किट के साथ चुनाव अधिकारी प्रदान करने और ईवीएम मशीन पर बटन दबाने के लिए टूथ पिक/ दस्ताने का उपयोग करने सहित मतदाताओं के लिए थर्मल स्क्रीनिंग पर विचार कर रहा है.

ये भी पढ़ें: बिहार में कोरोना से हाहाकार, अब पीएचसी तक टेस्टिंग सुविधा पहुंचाएगी सरकार

चुनाव आयोग के सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया है कि बिहार चुनाव की तैयारियां चल रही हैं. पीपीई किट के बारे में व्यवस्था और चुनाव के लिए मैन पावर में वृद्धि सहित चुनावों के दौरान बूथों की संख्या को बढ़ाने पर विचार-विमर्श किया जा रहा है. हालांकि, बिहार में कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरों को देखते हुए कई राजनीतिक दल चुनाव कराने के पक्ष में नहीं हैं. वो चाहते हैं कि फिलहाल चुनाव को स्थगित कर दिया जाए. सूत्रों ने बताया है कि बिहार चुनाव के संबंध में अंतिम निर्णय जल्द ही लिया जा सकता है और चुनाव कराने की दिशा में निर्वाचन आयोग हरसंभव कोशिश कर रहा है.

चुनाव आयोग ने कहा कि पूरे देश में कोरोना का संकट बना हुआ है. इसके साथ ही कोरोना संक्रमण को रोकने और उसकी सुरक्षा से संबंधित कई प्रकार के दिशा निर्देश आपदा प्रबंधन कानून, 2005 के तहत जारी किए गए. इसी से जुड़ा निर्देश राज्य सरकार द्वारा भी जारी किए गए हैं. इन्हीं निर्देशों का पालन करते हुए ही चुनाव के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें