scorecardresearch
 

पटना: आशीर्वाद यात्रा से पहले धरने पर बैठे चिराग, नहीं मिली अंबेडकर मूर्ति पर माल्यार्पण की इजाजत

आज (5 जुलाई) पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की जयंती है. इस मौके पर उनके बेटे और लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे हैं.

लोजपा सांसद चिराग पासवान (फाइल फोटो: PTI) लोजपा सांसद चिराग पासवान (फाइल फोटो: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रामविलास पासवान की जयंती आज
  • आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत करेंगे चिराग

बिहार में एक बार फिर राजनीतिक हलचल तेज़ होने लगी हैं. आज (5 जुलाई) पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की जयंती है. इस मौके पर उनके बेटे और लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे हैं. यात्रा शुरू होने से पहले ही विवाद हो गया है. पटना में अंबेडकर मूर्ति पर माल्यार्पण की इजाजत ना मिलने को लेकर चिराग पासवान धरने पर बैठ गए हैं. 

..जब भावुक हुए चिराग

यात्रा की शुरुआत से पहले नई दिल्ली में चिराग ने मीडिया से बात की, उन्होंने कहा कि वह अपनी लड़ाई लड़ते रहेंगे, इस दौरान अपने पिता को याद करते हुए चिराग पासवान भावुक भी हुए.

#WATCH | LJP leader Chirag Paswan breaks down during the book launch of his late father Ram Vilas Paswan, on his birth anniversary. He says, "I am the son of a lion, will never be scared, no matter how much people try to break us..." pic.twitter.com/rh6qC5v53y

नई दिल्ली आवास पर हुई पूजा 

नई दिल्ली में रामविलास पासवान के आवास पर सोमवार सुबह पूजा का आयोजन किया गया. चिराग पासवान और परिवार के अन्य सदस्य इस दौरान यहां पर मौजूद रहे, पार्टी के समर्थक भी यहां पर पहुंचे. पूजा के बाद चिराग पासवान पटना के लिए रवाना होंगे. 

चिराग बोले- संघर्ष करता रहूंगा

यहां नई दिल्ली में अपने पिता की जयंती पर चिराग पासवान ने कहा कि बिहार के लोग ही मेरी ताकत हैं, आज मैं और मेरी मां अकेले हैं. काश हमारे चाचा साथ खड़े होते, लेकिन वो नहीं हैं. मैं अपने पिता की प्रेरणा से आगे बढ़ूंगा, शेर का बेटा हूं और संघर्ष के रास्ते पर ही चलूंगा. 

चिराग पासवान ने कहा कि एक परिवार ने हमें धोखा दे दिया, लेकिन दूसरा परिवार हमारे साथ है. हम आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं, जो पूरे बिहार को कवर करेगी ये सिर्फ लोगों का आशीर्वाद लेने के लिए है, ना कि ताकत दिखाने के लिए.
 

पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि 

रामविलास पासवान की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि आज मेरे मित्र रामविलास पासवान जी की जयंती हैं, मैं उनकी कमी महसूस करता हूं. वह देश के सबसे अनुभवी सांसदों, राजनेताओं में से एक थे. पिछड़े वर्ग के लिए किया गया उनका योगदान हमेशा याद किया जाएगा.


पशुपति पारस भी देंगे श्रद्धांजलि

एक ओर चिराग पासवान आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं, तो उनके चाचा और लोक जनशक्ति पार्टी अलग करने वाले पशुपति पारस भी अपने भाई रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि देंगे. पटना में पार्टी के दफ्तर में आज श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम है. 

 

चाचा-भतीजे में जारी है वर्चस्व की जंग

गौरतलब है कि बीते दिनों पशुपति पारस और अन्य सांसदों ने एकजुट होकर खुद को चिराग पासवान से अलग कर लिया था. पहले पशुपति पारस संसद में पार्टी के नेता बने, बाद में पार्टी पर कब्जा कर लिया गया. अब पशुपति पारस लोजपा के अध्यक्ष हैं, जबकि चिराग का कहना है कि पार्टी अभी भी उनकी है और उनके चाचा जो फैसले ले रहे हैं, वो मान्य नहीं हैं. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें