scorecardresearch
 

'अमंगल पांडे' पर बीजेपी का जवाब- तेज प्रताप यादव को बांसुरी बजाने से नहीं मिलती थी फुर्सत

मंगल पांडे कुछ हफ्तों के लिए बिहार से गायब क्या हुए कि पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव उन्हें सैर सपाटा करने वाला मंत्री बताने लगे और उनका नया नामकरण कर दिया “अमंगल पांडे”.

तेज प्रताप यादव तेज प्रताप यादव

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे को लेकर आजकल उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव के बीच तलवारें खिंची हुई है. तेज प्रताप यादव ने मंगल पांडे का नया नामकरण करके उन्हें अमंगल पांडे कहना शुरू कर दिया है. इसकी वजह यह है कि मंगल पांडे पिछले कुछ हफ्तों से बिहार से गायब रहे और हिमाचल प्रदेश में प्रवास कर रहे थे.

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के बिहार से गायब होने की वजह यह थी कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव चल रहे थे और मंगल पांडे प्रदेश के भाजपा प्रभारी होने की वजह से वहीं पर डेरा जमाए हुए थे. मंगल पांडे कुछ हफ्तों के लिए बिहार से गायब क्या हुए कि पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव उन्हें सैर सपाटा करने वाला मंत्री बताने लगे और उनका नया नामकरण कर दिया “अमंगल पांडे”. तेज प्रताप यादव ने आरोप लगाया कि बिहार में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा रही थी और मंगल पांडे हिमाचल प्रदेश में सैर सपाटा करने में व्यस्त थे.

हालांकि, 9 नवंबर को हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद मंगल पांडे वापस बिहार आ गए. बुधवार को मंगल पांडे पटना की आईजीआईएमएस अस्पताल में एक कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे जहां पर उन्होंने तेज प्रताप यादव पर हमला बोला और कहा कि वह तेजप्रताप की तरह वाटर पार्क में सैर सपाटा करने और बांसुरी बजाने वाले मंत्री नहीं है. तेज प्रताप पर तंज कसते हुए मंगल पांडे ने कहा कि वह एसी कमरों में बैठकर बयानबाजी करने में नहीं बल्कि अस्पतालों में घूमकर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने में विश्वास रखते हैं.

मंगल पांडे के इसी तंज का जवाब देते हुए शुक्रवार को तेज प्रताप यादव ने ट्विटर पर लिखा कि मंगल पांडे ने बिहार की खूबसूरती को नकार दिया है और इसीलिए वह हिमाचल प्रदेश की सैर करते हैं. तेजप्रताप यादव ने लिखा कि हिमाचल प्रदेश घूमने वाले मंत्री हैं “अमंगल पांडे जी”.

तेज प्रताप यादव के ऐसी हमले का जवाब शाम होते-होते उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी दिया. सुशील मोदी ने कहा कि सत्ता जाने के बाद से तेज प्रताप यादव जैसे लोग हताश हो गए हैं और राजनीतिक बहस को निहायत ही घटिया और निजी स्तर पर लाकर राज्य को शर्मसार कर रहे हैं. तेज प्रताप को लेकर मोदी ने कहा कि उनके पास ना कोई ठोस तर्क है, ना तथ्य और ना उन्हें भाषा की मर्यादा ही सिखाई गई है. मोदी ने कहा कि तेज प्रताप यादव को स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए जलेबी छानने और बांसुरी बजाने से फुर्सत कभी मिली ही नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें