scorecardresearch
 

सुशील मोदी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना, नाव दुर्घटना पर पूछे 14 सवाल

बिहार प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और बिहार प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कल शाम हुई नाव दुर्घटना पर बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार से कई तीखे सवाल किए हैं.

सुशील मोदी (फाइल फोटो) सुशील मोदी (फाइल फोटो)

बिहार प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और बिहार प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कल शाम हुई नाव दुर्घटना पर बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार से कई तीखे सवाल किए हैं. वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े करते हैं. ये हैं वे 14 सवाल जो उन्होंने नीतीश कुमार से पूछे...

1. प्रकाशोत्सव के आयोजन पर 200 करोड़ और गरीबों के आयोजन पर फूटी कौड़ी नहीं ?

2. कालचक्र की व्यवस्था बेहतर हो सकती है तो हिन्दुओं के पर्व की व्यवस्था क्यों नहीं की गई ?

3. अगर प्रकाशोत्सव और कालचक्र का श्रेय सीएम ले रहें हैं तो 24 लोगों के मरने की जिम्मेवारी भी सीएम को नहीं लेनी चाहिए ?

4. अच्छी प्रशासनिक व्यवस्था का श्रेय सीएम को और विफलता का श्रेय प्रशासनिक पदाधिकारियों को ?

5. प्रकाशोत्सव और कालचक्र का रिव्यू स्वंय सीएम और सीएस कर रहे थे परन्तु इसकी मॉनिटेरिग क्यों नहीं? प्रभारी मंत्री क्या कर रहे थे? उन्होंने रिव्यू क्यों नहीं किया?

6. गंगा पार ले जाने की व्यवस्था मुफ्त और लौटने की कीमत आदमी की जान ?

7. लौटने के लिए पर्याप्त नावों की व्यवस्था क्यों नहीं की गई?

8. यदि सरकारी स्टीमर 2 बजे के बाद खराब हो गई तो फिर वैकल्पिक व्यवस्था क्यों नहीं की गई?

9. वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी गंगा पार क्यों नहीं मौजूद थे?

10. डिजनीलैंड तो चालू भी नहीं हो पाया था फिर उसको जिम्मेवार ठहराने का क्या औचित्य है?

11. 2012 के छठ (22) दशहरा (33) हादसे के बावजूद सरकार ने सबक लेकर पर्याप्त व्यवस्था क्यों नहीं की ?

12. क्या पटना के सभी वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी लालू प्रसाद के दही-चूड़ा भोज और सीएम की अगवानी में व्यस्त नहीं थे?

13. लाईफबोट, एम्बुलेंस, गोताखोर, पीएमसीएच में चिकित्सक, दवा की व्यवस्था क्यों नहीं थी?

14. इतने बड़े हादसे के बाद 21 तारीख को प्रस्तावित मानव श्रृंखला के कार्यक्रम को भी स्थगित कर देना चाहिए?



आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें