scorecardresearch
 

बिन ब्याही नाबालिग मां नवजात के साथ बैठी सत्याग्रह पर

लड़की का आरोप है कि सिराज नाम के युवक ने शादी का झांसा देकर उसका यौन शौषण किया और जब वह गर्भवती हो गई तो उसने शादी से इंकार कर दिया. बिन ब्याही लड़की ने किसी तरह जमाने से नजर बचाकर अपने बच्चे को जन्म दिया, लेकिन सिराज ने उसे और उसके बच्चे को अपनाने से इंकार कर दिया. सिराज अब फरार चल रहा है.

चंपारण के महसी थाने में सत्याग्रह पर बैठी बिन ब्याही मां चंपारण के महसी थाने में सत्याग्रह पर बैठी बिन ब्याही मां

पूर्वी चम्पारण के महसी थाना परिसर में एक नाबालिग लड़की अपने नवजात बच्चे के साथ आमरण अनशन पर बैठी है. नाबालिग लड़की अपने नवजात बच्चे को पिता का नाम दिलाने की लड़ाई लड़ रही है. इसके लिए उसने सत्याग्रह का रास्ता चुना है.

लड़की का आरोप है कि सिराज नाम के युवक ने शादी का झांसा देकर उसका यौन शौषण किया और जब वह गर्भवती हो गई तो उसने शादी से इंकार कर दिया. बिन ब्याही लड़की ने किसी तरह जमाने से नजर बचाकर अपने बच्चे को जन्म दिया, लेकिन सिराज ने उसे और उसके बच्चे को अपनाने से इंकार कर दिया. सिराज अब फरार चल रहा है.

शिकायतकर्ता लड़की के अनुसार, सिराज का कहना है कि बच्चा उसका नहीं है. लड़की अपनी गुहार लेकर पुलिस के पास गई, लेकिन पुलिस ने शुरू में शिकायत दर्ज करने से मान कर दिया. फिर पीड़िता ने अदालत का दरवाजा खटखटाया. अदालत के आदेश के बाद पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है.

तंग आकर लड़की ने सत्याग्रह का रास्ता चुना और अपनी मां के साथ महसी थाना परिसर में आमरण अनशन पर बैठ गई. उधर सुस्त पुलिस का कहना है कि वो जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार करेंगे. पुलिस ने फरार आरोपी के घर पर इश्तिहार चिपका दिया है और कहा है कि जल्द ही उसके घर की कुर्की जब्ती की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें