scorecardresearch
 

तेजस्वी यादव बोले- चुनाव में जनता लेगी लालू प्रसाद का बदला

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि राजनीति में लालू प्रसाद का कद कितना ऊंचा है कि वह जीवन भर चाहें तो उसकी बराबरी नहीं कर सकते हैं. हालांकि उन्होंने यह जरूर कहा कि वह लालू प्रसाद की विचारधारा को लोगों तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं. लालू प्रसाद को जितना परेशान किया जा रहा है, जनता इसका बदला चुनाव में लेगी.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव बोले- लालू का बदला जनता लेगी (फोटो-रोहित) आरजेडी नेता तेजस्वी यादव बोले- लालू का बदला जनता लेगी (फोटो-रोहित)

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि वह लोकसभा चुनाव के दौरान अपने पिता और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की कमी को काफी महसूस कर रहे हैं जो इस वक्त रांची जेल में चारा घोटाले के मामले में सजा काट रहे हैं. हालांकि, तेजस्वी का मानना है कि जितना वह अपने पिता की कमी महसूस कर रहे है, उससे ज्यादा बिहार की जनता उनकी कमी को महसूस कर रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद को जितना परेशान किया जा रहा है, जनता इसका बदला लेगी.

बिहार के झंझारपुर संसदीय क्षेत्र के मधेपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद तेजस्वी यादव ने आजतक से एक्सक्लूसिव बातचीत की और उम्मीद जताई कि उनके नेतृत्व में पिछले साल हुए उपचुनाव में जिस तरीके से आरजेडी को बड़ी जीत मिली थी, उसी तरीके से लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी और महागठबंधन की बड़ी जीत होगी.

तेजस्वी ने कहा कि राजनीति में लालू प्रसाद का कद कितना ऊंचा है कि वह जीवन भर चाहें तो उसकी बराबरी नहीं कर सकते हैं. हालांकि उन्होंने यह जरूर कहा कि वह लालू प्रसाद की विचारधारा को लोगों तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं. लालू प्रसाद को जितना परेशान किया जा रहा है, जनता इसका बदला चुनाव में लेगी.

'बिहार की जनता मेरी ताकत'

तेजस्वी ने दावा किया कि लालू प्रसाद की गैर मौजूदगी में उनकी ताकत बिहार की जनता है. उन्होंने कहा कि वह जनता के बीच सही मुद्दे लेकर जा रहे हैं और इसीलिए उन्हें जनसमर्थन भी प्राप्त हो रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए तेजस्वी ने कहा कि ना तो उनके पिता ने और ना ही उन्होंने कभी विचारधारा के साथ समझौता किया जैसा कि नीतीश ने किया जो सांप्रदायिक शक्तियों के साथ जाकर फिर से मिल गए.

तेजस्वी ने कहा कि चुनाव प्रचार प्रसार के दौरान उन्हें इस बात का पूरा एहसास हो गया है कि बिहार की जनता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बेहद नाराज है जिन्होंने आनन-फानन में 2017 में आरजेडी का साथ छोड़कर बीजेपी के साथ बिहार में नई सरकार बना ली थी. तेजस्वी ने कहा कि जनता इन चुनावों में नीतीश के इस फैसले का हिसाब लेगी.

तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी अपनी चुनावी सभाओं में पुलवामा और बालाकोट का जिक्र करने को लेकर सवाल उठाया और कहा कि वह ऐसा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने 5 साल में कोई विकास का काम नहीं किया और अब चुनाव के समय जनता का ध्यान विकास के मुद्दों से हटाकर राष्ट्र सुरक्षा पर ले जाना चाहते हैं. तेजस्वी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सेना की बदौलत लोकसभा चुनाव जीतना चाहते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें