scorecardresearch
 

अपराधी को पकड़ने बंगाल गए थे बिहार के थानेदार, देर रात बदमाशों ने पीट-पीटकर मार डाला

बिहार के किशनगंज के थानेदार अश्वनी कुमार की बंगाल में भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. अश्वनी कुमार एक अपराधी को पकड़ने गए थे, लेकिन तभी वहां उन पर हमला हो गया और उनकी मौत हो गई.

अपराधी को पकड़ने बंगाल गए थे अश्वनी कुमार. अपराधी को पकड़ने बंगाल गए थे अश्वनी कुमार.
0:46
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अपराधी को पकड़ने बंगाल गए थे थानेदार
  • बंगाल के पनतापारा गांव का मामला

पश्चिम बंगाल में बिहार के एक थानेदार की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है. बताया जा रहा है कि थानेदार बंगाल में एक वॉन्टेड अपराधी को पकड़ने गए थे, लेकिन तभी वहां कुछ लोगों ने उन पर हमला बोल दिया और पीट-पीटकर मार डाला. 

मामला बंगाल के पंजीपाड़ा थाने के पनतापारा गांव का है. इस गांव में एक वॉन्टेड अपराधी छिपा था, जिसे पकड़ने बिहार के किशनगंज के थानेदार अश्वनी कुमार गए थे, लेकिन उन पर गांव वालों ने हमला कर दिया, जिसमें उनकी मौत हो गई. इस मामले में पुलिस ने पंजीपाड़ा से एक शख्स को गिरफ्तार किया है.

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार-शनिवार रात 2 बजे के आसपास की ये घटना है. दरअसल, किशनगंज की सीमा बंगाल से लगती है. बंगाल के पनतापारा गांव में एक वॉन्टेड अपराधी की तलाश में अश्वनी निकले थे. बताया जा रहा है कि रात में ही अश्वनी कुमार बंगाल के स्थानीय थाने भी पहुंचे. तो वहां थाना प्रभारी ने बोल दिया कि ओडीओ उनके साथ जाएगा. ओडीओ ने बोला कि आप जाइए, हम आते हैं. ऐसे में अश्वनी कुमार गांव अकेले ही पहुंच गए. इसके बाद गांव वालों ने लाठी, डंडे और पत्थर से पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी. 

इस मामले पर पूर्णिया रेंज के आईजी ने बताया कि वो (अश्वनी कुमार) एक बाइक चोरी के मामले में छापेमारी करने पहुंचे थे. उनके साथ इस्लामपुर के एसपी भी थे. उन्होंने कहा कि इस मामले में हम छापेमारी कर दोषियों को गिरफ्तार करेंगे.

फिलहाल अश्वनी कुमार का शव बंगाल के इस्लामपुर अस्पताल में है. इस पूरे मामले के सामने आने के बाद बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने पीड़ित परिवार को केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तरफ से 1-1 करोड़ रुपये का मुआवजा देने की मांग की है.

 

TAGS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें