scorecardresearch
 

नीतीश की पुलिस ने PM मोदी की नमामि गंगे योजना की उड़ाई धज्जियां

शराबबंदी के मुद्दे पर हाल ही नींद से जगी पुलिस ने हजारों लीटर कच्ची शराब गंगा में बहा दी. ये सही है कि अवैध भट्टियों को पुलिस नष्ट कर रही थी, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि उसे गंगा में बहा दिया जाए.

नीतीश कुमार नीतीश कुमार

एक तरफ जहां पूरे देश में गंगा की सफाई के लिए नमामि गंगे योजना पर काम हो रहा है. लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है कि वो गंगा में कोई गंदगी यहां तक कि भगवान पर चढ़ाए गए फूलों को भी गंगा न डालें. लोगों पर धीरे धीरे इसका असर भी हो रहा है, लेकिन लगता है कि बिहार पुलिस को इससे कोई लेना देना नहीं है.

शराबबंदी के मुद्दे पर हाल ही नींद से जगी पुलिस ने हजारों लीटर कच्ची शराब गंगा में बहा दी. ये सही है कि अवैध भट्टियों को पुलिस नष्ट कर रही थी, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि उसे गंगा में बहा दिया जाए.

बता दें कि पटना पुलिस आजकल ऑपरेशन विश्वास चला रही है, जिसके तहत शराब के अवैध कारोबारियों पर कार्रवाई की जा रही है. शनिवार को पटना के सुकुमारपुर दियारा में चल रहीं शराब की अवैध भट्टियों को पुलिस ने नष्ट किया. गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने ये कार्रवाई की. दियारा में गंगा के किनारे हजारों लीटर देशी शराब रखा गया था. पुलिस ने शराब के ड्रमों को सीधे गंगा में बहाया.

हालांकि कई जगहों पर जमीन में गाड़ी गई शराब पर मिट्टी डाल कर नष्ट किया गया. इसी तर्ज पर गंगा किनारे रखे शराब के ड्रमों को नष्ट किया जा सकता है, लेकिन उसे सीधे गंगा में बहाना कहां तक उचित हैं.

पटना के एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि ऑपरेशन विश्वास के तहत पटना जिला के दियारा इलाके में छापेमारी की गई, जिसमें 110 लोगों की गिरफ्तारी की गई. साथ ही भारी मात्रा में देशी शराब की भट्टी को नष्ट किया गया.

इस छापेमारी में शराब माफिया से लेकर छोटे-छोटे अपराधी भी है. वहीं छापेमारी के दौरान कुख्यात अपराधी नेपाली डॉन भी पकड़ा गया है, जिसके पास से हथियार भी बरामद हुआ है. इसके अलावा तीन चोरी की मोटरसाइकिलें भी मिली है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें