scorecardresearch
 

नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के सामने किया नोटबंदी का समर्थन

लोकसंवाद कार्यक्रम के बाद प्रेस कांफ्रेस में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नोटबंदी पर विस्तार से अपनी बात रखी और कहा कि वो प्रारंभ के दिन के नोटबंदी के समर्थन में हैं.

नीतीश ने किया नोटबंदी का समर्थन नीतीश ने किया नोटबंदी का समर्थन

नोटबंदी को लेकर बिहार में महागठबंधन के घटक दलों की अलग-अलग राय है. जेडीयू नोटबंदी के समर्थन में है तो आरजेडी और कांग्रेस विरोध में. लेकिन सोमवार को उस वक्त अजोबी-गरीब स्थिति पैदा हो गयी जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा नोटबंदी के समर्थन में बयान देते वक्त उनके बाएं और दाएं आरजेडी और कांग्रेस के नेता विराजमान थे. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एक तरफ उप मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद के बेटे तेजस्वी प्रसाद यादव तो दूसरी तरफ कांग्रेस के बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी बैठे हुए थे.

लोकसंवाद कार्यक्रम के बाद प्रेस कांफ्रेस में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नोटबंदी पर विस्तार से अपनी बात रखी और कहा कि वो प्रारंभ के दिन के नोटबंदी के समर्थन में हैं. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने 50 दिन का समय मांगा था तो 50 दिन पूरे होने के बाद ही जेडीयू विश्लेषण कर अपनी बात रखेगी. नीतीश कुमार ने कहा कि 50 दिन पूरे होने के बाद पार्टी की बैठक में इस पर विस्तार से मंथन किया जाएगा उसके बाद जेडीयू अपनी विस्तार से सबके सामने प्रकट करेगी.

तेजस्वी यादव का मोदी पर हमला
इधर बाहर आने पर उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बीजेपी द्वारा लालू प्रसाद पर कालाधन रखने का आरोप लगाने का जवाब देते हुए कहा कि लालू प्रसाद सर्वोच्च न्यायालय से आय से अधिक संपत्ति के मामले में तीन-तीन केस जीत चुके हैं. उन्होंने कहा कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में जितनी जांच उनके परिवार की हुई उतनी जांच देश के किसी नेता की नहीं हुई लेकिन उनके या उनके परिवार के लोगों के पास से कुछ नहीं मिला. तेजस्वी यादव ने कहा कि गरीबों के लिए आवाज बुलंद करने का परिणाम है उनके परिवार को तंग और तवाह किया गया. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का नोटबंदी का मकसद पूरा नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार को और बढ़ावा मिला है, अब तो बैंक के ही अधिकारियों की मिली भगत से कालाधन को सफेद किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेताओं के पास से ज्यादा कालाधन देश में किसी के पास नहीं है.

बिहार के उप मुख्यमंत्री ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ नोटबंदी के कारण देश की गरीब जनता परेशान है, दो जून की रोटी के लाले पड़ गए हैं तो दूसरी तरफ अमीर लोग देश और विदेश में ऐश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जबतक बेनामी संपत्तियों को जब्त नहीं किया जाएगा तबतक कालाधन समाप्त नहीं हो सकता. उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा कालाधन जमीन, मकान और जेवरात में है. कैश के रूप में महज 4 फीसदी ही कालाधन है.

तेजस्वी बोले कि समय बदलते देर नहीं लगता, देश की जनता मूड बदल रहा है. आने वाले समय में देश की जनता इसका जवाब देगी. उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण भ्रष्टाचार को इस कदर बढ़ावा मिला है कि उसका परिणाम है बहुत ही कम समय में बाजारों में 2000 के नकली नोट भी आ गए. उन्होंने बीजेपी को सलाह देते हुए कहा कि दूसरों पर कीचड़ उछालने से पहले उन्हें अपने गिरेबान में झांक कर देखना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें