scorecardresearch
 

कोरोना ने बिहार की चुनावी सरगर्मी पर लगाया ब्रेक, राजनीतिक दलों ने कार्यक्रम टाले

बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बीजेपी से लेकर जेडीयू और आरजेडी सहित तमाम राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी सियासी गतिविधियों को कुछ दिनों के लिए टाल दिया है या फिर रद्द कर दिया है.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (फाइल-फोटो) आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (फाइल-फोटो)

  • कांग्रेस के जिला प्रभारियों के काम पर कोरोना का ब्रेक
  • बीजेपी दफ्तर में कई लोग कोरोना संक्रमण के शिकार

बिहार विधानसभा चुनाव की सियासी बिसात तेजी से बिछाई जाने लगी थी, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों और कई बड़े नेताओं के संक्रमित हो जाने के बाद से राजनीतिक सरगर्मियों पर ब्रेक लग गया है. बीजेपी से लेकर जेडीयू और आरजेडी सहित तमाम राजनीतिक दलों ने कोरोना के प्रकोप को देखते हुए अपनी-अपनी सियासी गतिविधियों को कुछ दिनों के लिए टाल दिया है या फिर रद्द कर दिया है.

कांग्रेस के प्लान पर फिरा पानी

बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने पिछले हफ्ते तीन दिन का दौरा कर चुनावी तैयारियों के लिए खास प्लान बनाया था. उन्होंने हर जिले के विधानसभा क्षेत्र में कम से कम पांच प्रत्याशियों के चयन, बूथों पर पार्टी की स्थिति, स्थानीय मुद्दों की पड़ताल के लिए प्रदेश के सभी जिलों में प्रभारी नियुक्त किए थे. इन सारे जिला प्रभारियों को बुधवार से ही अपने-अपने जिलों में कूच कर काम शुरू करना था. लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते अब यह अभियान टल गया है. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच फिर से लागू लॉकडाउन ने उनकी रणनीति पर पानी फेर दिया है. जिला प्रभारियों को अब पार्टी की नई गाइडलाइन का इंतजार है.

ये भी पढ़ें: कोरोना से बिहार त्रस्त, चुनाव का वक्त नहीं, जरूरत पड़े तो लगे राष्ट्रपति शासन: तेजस्वी

आरजेडी ने बंद की बैठक

कोरोना संकट में लॉकडाउन के बाद 12 मई को बिहार लौटने के बाद तेजस्वी यादव ने तेजी से दौरे शुरू कर दिए थे. पटना के ग्रामीण क्षेत्रों से लेकर गोपालगंज, वैशाली, समस्तीपुर, भोजपुर और रोहतास जिलों का दौर कर अपने समीकरण को दुरुस्त करने में जुटे थे. तेजस्वी यादव चीन की सीमा पर शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने उनके घर और परिवार के बीच भी पहुंच रहे थे.

आरजेडी के पटना कार्यालय में भी पार्टी के प्रकोष्ठों और जिला-प्रदेश के पदाधिकारियों की अलग-अलग कई बैठकें ली जा रही थीं. विधानमंडल दल के अलावा, जिलाध्यक्षों, प्रदेश एवं राष्ट्रीय पदाधिकारियों की अलग-अलग बैठकें हुई हैं. महिला, अति पिछड़ा एवं व्यवसायी प्रकोष्ठों की बैठकों में तो तेजस्वी यादव ने खुद भी शिरकत की थी.

ये भी पढ़ें: कोरोनाः ठेले पर डॉक्टर, इलाज के लिए अस्पताल में तड़पते मरीज, ये है बिहार का हाल

हालांकि, कोरोना के मामलों में तेजी से हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए पार्टी ने अपनी सारी बैठकों को स्थगित कर दिया है. इसके अलावा प्रमंडल स्तर पर होने वाली बैठकों को आरजेडी ने टाल दिया है. चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर आरजेडी का जिलावार प्रशिक्षण शिविर भी आयोजित होना था.

बीजेपी ने भी कार्यक्रम रोके

गृहमंत्री अमित शाह की वर्चुअल रैली के जरिए बिहार विधानसभा चुनाव अभियान की शुरूआत बीजेपी ने कर दी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण रोजगार योजना की शुरुआत बिहार से किया. इसके बाद बीजेपी चुनाव में उतर चुकी थी. बिहार प्रदेश प्रभारी भूपेंद्र यादव खुद पटना में कैंप करके लगातार वर्चुअल बैठकें कर रहे थे. अब कोरोना संक्रमण से कई नेताओं के संक्रमित हो जाने के बाद से बीजेपी के कार्यक्रमों पर भी नियंत्रण लग गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें