scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: चंद्रशेखर के साथ दिख रही ये महिला नहीं है 'हाथरस वाली भाभी'

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा गलत है. तस्वीर में दिख रही महिला "हाथरस वाली भाभी" नहीं बल्कि किरन यादव नाम की एक चर्चित सोशल मीडिया यूजर हैं.

चंद्रशेखर 'रावण' के साथ दिख रही ये महिला नहीं है 'हाथरस वाली भाभी' चंद्रशेखर 'रावण' के साथ दिख रही ये महिला नहीं है 'हाथरस वाली भाभी'

हाथरस कांड में कथित नक्सली कनेक्शन आने के बाद हड़कंप मच गया है. जबलपुर की रहने वाली एक डॉक्टर राजकुमारी बंसल पर नक्सलवाद से जुड़े होने का आरोप लगा. खबरों में कहा गया कि राजकुमारी कई दिन तक हाथरस में पीड़िता के घर में उसकी भाभी बनकर रहीं और उन्होंने पीड़िता के परिवार को भड़काया. कुछ न्यूज़ रिपोर्ट्स में राजकुमारी के भीम आर्मी से जुड़ाव होने की बात भी सामने आई है.

अब इसी को लेकर सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है. तस्वीर में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद एक महिला के साथ खड़े दिख रहे हैं. दावा किया जा रहा है कि ये महिला हाथरस वाली वही 'भाभी' हैं जिनका नक्सलवाद से जुड़ाव है. तस्वीर को अलग-अलग कैप्शन के साथ सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा गलत है. तस्वीर में दिख रही महिला "हाथरस वाली भाभी" नहीं बल्कि किरन यादव नाम की एक चर्चित सोशल मीडिया यूजर हैं.

इस तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ फेसबुक और ट्विटर  पर जमकर शेयर किया जा रहा है. पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

कैसे की पड़ताल?

कुछ वायरल पोस्ट के कमेंट सेक्शन में लोगों ने लिखा था कि तस्वीर में दिख रही महिला किरन यादव हैं. खोजने पर हमें इसी नाम से एक महिला कि फेसबुक प्रोफाइल मिली. हमने पाया कि इस प्रोफाइल में जिस महिला की तस्वीरें मौजूद हैं उसकी शक्ल वायरल तस्वीर में दिख रही महिला से मिलती है.

किरन यादव के फेसबुक पर लाखों फॉलोवर हैं. वे अपने आप को एक सामाजिक कार्यकर्ता बताती हैं. 2017 में फेसबुक पर चर्चित हो जाने के बाद उन पर कुछ मीडिया संस्थाओं ने खबर भी प्रकाशित की थी.

जानकारी पुख्ता करने के लिए हमने भीम आर्मी के प्रवक्ता कुश अम्बेडकरवादी से बात की. कुश ने हमें बताया कि वायरल तस्वीर में चंद्रशेखर के साथ दिख रही महिला किरन यादव ही हैं. कुश के मुताबिक, ये तस्वीर दो साल पहले अंबाला में ली गई थी. कुश का कहना था कि किरन यादव आज (14 अक्टूबर, 2020 को) भी उनके साथ पटना में मौजूद थीं.

राजकुमारी बंसल का भीम आर्मी से जुड़े होने वाली बात पर कुश का कहना था कि वे उनसे हाथरस पीड़िता के घर पर ही पहली बार मिले थे. ये बात भी गौर करने वाली है कि वायरल तस्वीर में दिख रही महिला की शक्ल राजकुमारी बंसल से नहीं मिलती है.

राजकुमारी बंसल भीम आर्मी से जुड़ी हुई हैं या नहीं, इसकी पुष्टि आजतक नहीं कर सकता, लेकिन ये साफ है कि तस्वीर में दिख रही महिला राजकुमारी बंसल नहीं, बल्कि किरन यादव हैं.
 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद के साथ "हाथरस वाली भाभी" की एक तस्वीर.

निष्कर्ष

तस्वीर में दिख रही महिला "हाथरस वाली भाभी" नहीं, बल्कि किरन यादव नाम की एक चर्चित सोशल मीडिया एक्टिविस्ट हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें