scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: PFI पर पड़े छापे और कांग्रेस की यात्रा में 'ब्रेक' के बीच नहीं है कोई ताल्लुक, बेबुनियाद है कपिल मिश्रा का आरोप

केंद्रीय जांच एजेंसियों एनआईए और ईडी ने 22 सितंबर को देशभर में PFI के कई ठिकानों पर छापेमारी करके उसके 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया था. इसके विरोध में PFI ने 23 सितंबर को एक दिन की हड़ताल बुलाई. इन घटनाक्रमों के बीच बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया है.

X
कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर सोशल मीडिया पर दावे किया जा रहा है. कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर सोशल मीडिया पर दावे किया जा रहा है.

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ इन दिनों केरल में है और 23 सितंबर को इसे एक दिन का विराम दिया गया. यात्रा में लिए गए इस ‘ब्रेक’ को सोशल मीडिया पर इस्लामिक संगठन ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ यानी PFI पर पड़े छापों से जोड़ा जा रहा है.  

दरअसल, केंद्रीय जांच एजेंसियों ने 22 सितंबर को देशभर में PFI के कई ठिकानों पर छापेमारी करके उसके 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया था. इसके विरोध में PFI ने 23 सितंबर को एक दिन की हड़ताल बुलाई.

इन घटनाक्रमों के बीच बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट करके कहा, “PFI और इस्लामिक जिहादी संगठनों ने आज हड़ताल का आह्वान किया और कांग्रेस ने आज अपनी पद यात्रा रोक दी इससे घटिया और शर्मनाक कुछ नहीं हो सकता.” 

कपिल

इंडिया टुडे फैक्ट चेक ने पाया कि कांग्रेस की यात्रा में लिए गए इस एक दिन के ब्रेक का PFI पर पड़े छापों से कोई लेना-देना नहीं है. ये छापे 22 सितंबर को पड़े थे जबकि कांग्रेस ने इससे पहले ही एक दिन के ब्रेक का ऐलान कर दिया था. 

कैसे पता लगाई सच्चाई? 

कीवर्ड्स सर्च के जरिए हमें 21 सितंबर की कुछ मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं. इनके मुताबिक कांग्रेस की यात्रा केरल के त्रिसूर जिले में पहुंच चुकी है और 23 सितंबर का दिन यात्रियों के आराम के लिए रखा गया है.  

कांग्रेस के यूट्यूब हैंडल पर हमें 20 सितंबर को पार्टी के महासचिव और मीडिया इंचार्ज जयराम रमेश की प्रेस कॉन्फ्रेंस का वीडियो मिला. जयराम ने इसमें बताया था कि यात्रा में 23 सितंबर को ब्रेक लिया जाएगा और ये यात्रा 29 सितंबर तक केरल में रहेगी. 

जाहिर है, PFI पर छापे 22 सितंबर को पड़े जबकि कांग्रेस अपनी यात्रा में 23 सितंबर को ब्रेक लेने का ऐलान 20 सितंबर को ही कर चुकी थी. 

क्या है PFI पर कांग्रेस का रुख? 

22 सितंबर को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने यात्रा के दौरान ही केरल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. PFI से जुड़ा सवाल पूछे जाने पर उनका कहना था, “हर तरह की सांप्रदायिकता का मुकाबला किया जाना चाहिए, चाहे वह कहीं से भी हो. सांप्रदायिकता के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति होनी चाहिए.” 

हमने इस मसले पर कांग्रेस के मीडिया डिपार्टमेंट के चेयरमैन पवन खेड़ा से बात की. PFI के सवाल पर उन्होंने कहा, “राहुल गांधी हमारी पार्टी की पोजिशन स्पष्ट कर चुके हैं. हमारी पार्टी को किसी भी तरह की कट्टरता अस्वीकार्य है. चाहे वो बहुसंख्यकों की ओर से हो या अल्पसंख्यकों की ओर से.” 

‘भारत जोड़ो यात्रा’  में लिए गए एक दिन के ब्रेक पर उनका कहना था, “यात्रा में एक सप्ताह बाद ब्रेक लिया जा रहा है. ये हमारा दूसरा ब्रेक है. इससे पहले हमने 15 सितंबर को ब्रेक लिया था.” 

सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई इस यात्रा में 15 सितंबर के दिन ब्रेक लिया गया था और 16 सितंबर को यात्रा केरल के कोलम से शुरू हुई थी. कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से 16 सितंबर को इस बाबत जानकारी भी दी गई थी. 

कांग्रेस की ये यात्रा 150 दिन तक चलेगी और 12 राज्यों में तकरीबन 3500 किलोमीटर का सफर तय करेगी. 

(रिपोर्ट- सुमित कुमार दुबे) 

 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर

दावा

इस्लामिक संगठन PFI की हड़ताल के समर्थन में कांग्रेस ने अपनी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ रोक दी है.

निष्कर्ष

PFI पर छापे 22 सितंबर को पड़े थे जबकि कांग्रेस 20 सितंबर को ही 23 सितंबर के दिन यात्रा को रोकने का ऐलान कर चुकी थी.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें