scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: पुलवामा एनकाउंटर का नहीं है ये वायरल वीडियो

पुलवामा आतंकी हमले के बाद हुए एनकाउंटर से जोड़ते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.  दावा किया जा रहा है कि पिछले आठ घंटे में भारतीय सेना ने 36 आतंकवादियों को मार दिया. वायरल हो रहा वीडियो विचलित कर देने वाला है.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद हुए एनकाउंटर से जोड़ते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि पिछले आठ घंटे में भारतीय सेना ने 36 आतंकवादियों को मार दिया. वायरल हो रहा वीडियो विचलित कर देने वाला है. 45 सेकंड के इस वीडियो में तीन आतंकियों की लाशें देखी जा सकती हैं, इसके साथ ही सैनिक भारी तादाद में बरामद गोलियां और गोला-बारूद गिनते दिखाई दे रहे हैं.

पोस्ट का अर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है- (तस्वीर और वीडियो आपको विचलित भी कर सकते हैं.)

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पड़ताल में पाया कि वायरल हो रहा वीडियो काफी पुराना है और इसका पुलवामा एनकाउंटर से कोई लेना देना नहीं है.

फेसबुक पेज 'कड़वी सच्चाई' ने यह वीडियो 16 फरवरी को पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा था, 'पिछले 8 घंटे के ऑपरेशन के दौरान सेना ने 36 *&^%$  ठोक डाले, बधाई नहीं दोगे. तांडव शुरू, हर हर महादेव, जय जय श्री राम जय हिंद.' खबर लिखे जाने तक यह वीडियो 2800 से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका था. इसी वीडियो को कई दूसरे  फेसबुक यूजर्स ने भी शेयर किया है.

मनीष पांडे, सोनाजी महादेव  

वायरल हो रहे वीडियो का सच जानने के लिए जब हमने इसे रिवर्स सर्च किया तो हमें यूट्यूब पर इस वीडियो का ओरिजनल वर्जन मिला. यह वीडियो करीब एक मिनट बारह सेकंड का है जिसे 20 सितंबर 2016 को अपलोड किया गया था. साफ जाहिर होता है कि इस वीडियो का पुलवामा हमले के बाद हुए एनकाउंटर से कोई संबंध नहीं है.

पुलवामा हमले के बाद करीब 18 घंटे तक चले एनकाउंटर की खबरों को तमाम प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों ने प्रमुखता से छापा था.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया पर मौजूद पेज जैसे कड़वी सच्चाई

दावा

पुलवामा हमले के बाद एनकाउंटर में 36 आतंकियों को मारा

निष्कर्ष

वायरल वीडियो पुलवामा हमले के बाद हुए एनकाउंटर का नहीं है, ये किसी पुराने एनकाउंटर का ही वीडियो है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया पर मौजूद पेज जैसे कड़वी सच्चाई
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें