scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: हिंदू महिला ने मुस्लिम भाई को बांधी राखी, झूठे सांप्रदायिक दावे के साथ तस्वीर वायरल

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की जा रही है, जिसमें एक हिंदू महिला मुस्लिम लड़के को राखी बांधते दिख रही है. इसे शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि जिसने उसे राखी बांधी थी, उसी लड़के ने उसके साथ दुष्कर्म किया. लेकिन पड़ताल में ये दावा झूठा निकला.

सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को किया जा रहा झूठे दावे के साथ वायरल सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को किया जा रहा झूठे दावे के साथ वायरल

हाल ही में मनाए गए रक्षाबंधन के त्यौहार के बाद से सोशल मीडिया पर एक पोस्ट सांप्रदायिक दावे के साथ तेजी से वायरल हो रही है. पोस्ट में कहा जा रहा है कि काशीपुर में पूनम सागर नाम की एक लड़की आरिफ खान नाम के एक लड़के को अपना भाई मानकर राखी बांधती थी. लेकिन आरिफ ने भाई-बहन के इस रिश्ते को कलंकित कर दिया और पूनम का बलात्कार कर वीडियो बना लिया.

पोस्ट में एक तस्वीर है जिसे देखने से ऐसा लगता है कि एक महिला एक मुस्लिम व्यक्ति को राखी बांध रही है. इसके साथ ही पोस्ट में एक अखबार की कटिंग भी है जिसका शीर्षक है, "मुंहबोले भाई ने मांग में सिंदूर भर किया युवती से दुष्कर्म".

इस खबर में बताया गया है कि काशीपुर में एक लड़की मोहल्ले में ही रहने वाले एक दूसरे धर्म के युवक को भाई मानकर राखी बांधती थी. लेकिन मुंहबोले भाई ने मंदिर में युवती के साथ दुष्कर्म कर आपत्तिजनक वीडियो बना लिया और वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करता रहा.

क्या है सच्चाई?

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज़ वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि पोस्ट में किया जा रहा दावा पूरी तरह झूठा है. तस्वीर में दिख रहे युवक और युवती दिल्ली के रहने वाले मोहम्मद सादिक और मीनाक्षी कश्यप हैं जो मुंहबोले भाई बहन हैं. इन दोनों के साथ ना तो दुष्कर्म का ऐसा कोई मामला जुड़ा है, ना ही अखबार की क्लिपिंग से इनका कोई लेना-देना है. अखबार की क्लिपिंग को भी पोस्ट में गलत तरीके से पेश किया गया है.

इस सांप्रदायिक पोस्ट को फेसबुक और ट्विटर पर यूजर्स खूब शेयर कर रहे हैं. लोग साथ में कैप्शन में लिख रहे हैं, "काशीपुर में आरिफ खान को भाई मान कर राखी बांधती थी पूनम सागर फिर आरिफ ने बलात्कार कर बनाई वीडियो और दिखा दी औकात. भाईचारे का सारा भूत उतार दिया आरिफ ने बहुत भाईचारे की मिसाल पेश करती थी पूनम देखे पूरी रिपोर्ट".

कैसे पता की सच्चाई?

सबसे पहले हमने यह पता करने की कोशिश की कि वायरल फोटो में दिख रहे युवक और युवती कौन हैं. रिवर्स सर्च करने पर सामने आया कि यह फोटो एक वीडियो में से ली गई है. इस वीडियो को कुछ दिनों पहले रक्षाबंधन के दिन ट्विटर पर शेयर भी किया था.

इस वीडियो में पीछे एक बोर्ड नजर आ रहा है जिस पर " RAYYAN FABRICATORS" लिखा हुआ है. "RAYYAN FABRICATORS" को फेसबुक पर सर्च करने पर हमें अरुण किशोर दहिया नाम के एक व्यक्ति की फेसबुक पोस्ट मिली जिसमें कुछ तस्वीरें थीं और तस्वीरों में "RAYYAN FABRICATORS" लिखा हुआ यही बोर्ड नजर आ रहा था.

अरुण किशोर दहिया ने इस पोस्ट में कई लोगों को टैग कर रखा था जिनमें से एक मोहम्मद सादिक भी थे. मोहम्मद सादिक की प्रोफाइल पर मौजूद तस्वीरों को देखें तो उनकी शक्ल वायरल फोटो में नजर आ रहे आदमी से मेल खाती हैं. फेसबुक प्रोफाइल पर मौजूद उनके नंबर के जरिए हमने सादिक से संपर्क किया. सादिक ने इस बात की पुष्टि कर दी कि वायरल तस्वीर उन्हीं की है और इसमें दिख रही महिला उनकी मुंहबोली बहन मीनाक्षी कश्यप हैं.

सादिक ने हमें बताया कि वो और मीनाक्षी दिल्ली के रहने वाले हैं और कई सालों से एक दूसरे को जानते हैं. सादिक के अनुसार, यह फोटो पिछले साल के रक्षाबंधन की है जब मीनाक्षी ने उन्हें राखी बांधी थी. रक्षाबंधन का ये कार्यक्रम दिल्ली के इंदरलोक स्थित सादिक के दोस्त की दुकान "RAYYAN FABRICATORS" में हुआ था. सादिक ने हमें यह बात साफ कर दी कि वायरल पोस्ट में उनकी तस्वीर के साथ जो भी कहा जा रहा है वह सरासर झूठ है. सादिक का कहना था कि पोस्ट में दिखाई गई अखबार की कटिंग से उनका या मीनाक्षी का कोई लेना-देना नहीं है.

इस बारे में हमारी बात मीनाक्षी से भी हुई. उन्होंने भी हमें यही बताया कि उनके और सादिक के बीच भाई-बहन का एक अच्छा रिश्ता है और पोस्ट में एकदम गलत दावा किया गया है. सादिक ने हमसे ये भी कहा कि वे इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत करेंगे. सादिक दिल्ली के इंदरलोक‌ इलाके में रहते हैं और दिल्ली बीजेपी के अल्पसंख्यक विभाग से जुड़े हुए हैं. वहीं मीनाक्षी आम आदमी पार्टी की सदस्य हैं और चांदनी चौक से पार्टी की महिला विंग की सचिव हैं.

क्या है अखबार वाली खबर की कहानी?

कुछ कीवर्ड की मदद से खोजने पर हमें उत्तराखंड के काशीपुर में हुए इस मामले को लेकर खबरें मिलीं. "जागरण" में 17 जुलाई को प्रकाशित हुई एक खबर में बताया गया है कि काशीपुर में एक व्यक्ति के खिलाफ एक लड़की के साथ जबरन शादी और दुष्कर्म करने का केस दर्ज हुआ.

खबर के अनुसार, हिमालय नाम के एक व्यक्ति ने पड़ोस की एक युवती को मंदिर ले जाकर नशीला पदार्थ मिलाकर कोल्डड्रिंक पिलाया, जबरन शादी की और फिर दुष्कर्म कर वीडियो बना लिया. हिमालय युवती को अपनी मुंह बोली बहन मानता था. खबर में कहा गया है कि यह हरकत हिमालय ने अपनी मां की मदद से की‌ थी. मामला काशीपुर के कोतवाली क्षेत्र का था और युवती की तहरीर पर पुलिस ने मां-बेटे पर मुकदमा दर्ज कर लिया था.

इस बारे में हमने कोतवाली क्षेत्र के पुलिस एसएचओ जीबी जोशी से बात की. एसएचओ ने हमें जो बताया वह पोस्ट में किए गए दावे के उलट था. एसएचओ के मुताबिक, इस मामले में लड़की मुस्लिम समुदाय से है और लड़का हिंदू है. जोशी का कहना था कि शिकायत मिलने पर हमने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था और अभी इसकी जांच चल रही है.

यहां हमारी तफ्तीश में साबित हो जाता है कि पोस्ट में किए गए दावे का ना तो तस्वीर से कोई नाता है, ना ही यह काशीपुर वाले मामले से मेल खाता है. पोस्ट में रक्षाबंधन मनाते दिख रहे लोग मुंहबोले भाई-बहन सादिक और मीनाक्षी हैं जिनकी तस्वीर को सांप्रदायिक रंग देकर वायरल किया जा रहा है. काशीपुर वाले मामले को लेकर भी यह कहना गलत होगा कि एक मुस्लिम भाई ने अपनी हिंदू बहन के साथ बलात्कार किया.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

काशीपुर में एक मुस्लिम ने अपनी मुंहबोली हिंदू बहन के साथ बलात्कार किया और वीडियो बना लिया.

निष्कर्ष

तस्वीर में दिख रहे युवक-युवती दिल्ली के रहने वाले मोहम्मद सादिक और मीनाक्षी कश्यप हैं जो मुंहबोले भाई बहन हैं. इन दोनों के साथ ना तो दुष्कर्म का ऐसा कोई मामला जुड़ा है, ना ही अखबार की क्लिपिंग से इनका कोई लेना-देना है. अखबार की क्लिपिंग को भी पोस्ट में गलत तरीके से पेश किया गया है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें