scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: अखिलेश यादव ने जूते उतार कर ही की थी परशुराम की पूजा, भ्रामक दावे के साथ फोटो हुई वायरल

समाजवादी पार्टी (SP) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2 जनवरी को लखनऊ के गोसाईगंज इलाके में भगवान परशुराम की मूर्ति का अनावरण किया. इस कार्यक्रम की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं. इन्हीं में से एक तस्वीर के जरिए अब दावा किया जा रहा है कि अखिलेश ने जूते पहन कर भगवान परशुराम की मूर्ति की पूजा की थी.

अखिलेश यादव की वायरल वह तस्वीर, जिसको लेकर किया जा रहा भ्रामक दावा. अखिलेश यादव की वायरल वह तस्वीर, जिसको लेकर किया जा रहा भ्रामक दावा.

समाजवादी पार्टी (SP) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2 जनवरी को लखनऊ के गोसाईगंज इलाके में भगवान परशुराम की मूर्ति का अनावरण किया. इस कार्यक्रम की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं. इन्हीं में से एक तस्वीर के जरिए अब दावा किया जा रहा है कि अखिलेश ने जूते पहन कर भगवान परशुराम की मूर्ति की पूजा की थी.
 

वायरल हो रही इस तस्वीर में अखिलेश को भगवान परशुराम की मूर्ति के आगे हाथ जोड़े खड़े देखा जा सकता है. तस्वीर में अखिलेश के पैरों पर गोला बनाकर यह बताने की कोशिश की गई है कि उन्होंने पूजा के दौरान जूते पहन रखे थे.

हालांकि, तस्वीर देख कर यह ठीक तरह से समझ नहीं आ रहा है कि अखिलेश ने सचमुच जूते पहन रखे हैं या नहीं. कुछ लोगों का कहना है कि अखिलेश को यह तक नहीं पता कि भगवान की पूजा जूते उतारकर की जाती है.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. अखिलेश यादव ने भगवान परशुराम की पूजा करते समय जूते नहीं पहने थे. तस्वीर में अखिलेश के पैरों में काले रंग की जो चीज दिख रही है, वो मोजे हैं.

एक ट्विटर यूजर ने तस्वीर को पोस्ट करते हुए लिखा, "अब जूता पहन कर कौन पूजा करता है. भगवान परशुराम जी हमारे आराध्य हैं". टि्वटर और फेसबुक पर यह पोस्ट काफी वायरल हो रही है.

कैसे पता चली सच्चाई?

भगवान परशुराम की मूर्ति के अनावरण का पूरा वीडियो समाजवादी पार्टी ने अपने यूट्यूब चैनल पर 2 जनवरी 2022 को अपलोड किया था. वीडियो में दिख रहा है कि अखिलेश अपनी समाजवादी विजय यात्रा वाली गाड़ी से उतरते हैं और तमाम लोगों के साथ मंदिर की तरफ आगे बढ़ जाते हैं.

6 मिनट 42 सेकंड पर देखने में ऐसा लगता है कि अखिलेश मंदिर के बाहर अपने जूते उतार रहे हैं. हालांकि, इस जगह अखिलेश के पैर नहीं दिख रहे हैं और सिर्फ ऊपर वाला हिस्सा ही नजर आ रहा है.

इसके बाद हमें समाजवादी पार्टी का 2 जनवरी का एक फेसबुक पोस्ट मिला जो अखिलेश यादव के इसी कार्यक्रम को लेकर किया गया था. इस पोस्ट में अखिलेश यादव को एक फोटो में मंदिर से ठीक बाहर बिना जूतों के देखा जा सकता है. फोटो में साफ तौर पर नजर आ रहा है कि अखिलेश ने काले रंग के मोजे पहन रखे हैं.

 

जानकारी पुख्ता करने के लिए हमने अखिलेश यादव के इस कार्यक्रम में मौजूद लखनऊ के एक फोटोग्राफर सुमित कुमार से बात की. सुमित ने हमें बताया कि अखिलेश का जूते पहन कर भगवान परशुराम की पूजा करने वाला दावा झूठा है. उनका कहना था कि पूजा के वक्त अखिलेश यादव ने पैरों में सिर्फ मोजे पहन रखे थे.

सुमित ने हमें इस कार्यक्रम की कुछ अन्य तस्वीरें भी भेजीं, जिन्हें देखने से यह साफ हो जाता है कि अखिलेश यादव ने पूजा के दौरान जूते नहीं पहन रखे थे. ये तस्वीरें सुमित कुमार ने ही खींची थीं. 

 

इस तरह हमारी जांच में यह स्पष्ट हो जाता है कि अखिलेश यादव ने भगवान परशुराम की पूजा जूते उतारकर ही की थी.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने लखनऊ में जूते पहन कर भगवान परशुराम की पूजा की.

निष्कर्ष

अखिलेश ने भगवान परशुराम की पूजा करते समय जूते नहीं पहने थे. तस्वीर में अखिलेश के पैरो में काले रंग की जो चीज दिख रही है वो मोजे हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×