scorecardresearch
 

आजतक फैक्ट चेक, टीवी टुडे नेटवर्क लिमिटेड लिमिटेड का हिस्सा है. फैक्ट चेक सेक्शन आजतक वेबसाइट का हिस्सा है. लेकिन इस सेक्शन का प्रबंधन अलग और स्वतंत्र तरीके से इंडिया टुडे-आजतक की संपादकीय टीम द्वारा किया जाता है.

आजतक फैक्ट चेक टीम:

बालकृष्ण

बालकृष्ण इंडिया टुडे ग्रुप की फैक्ट चेक टीम के इंचार्ज हैं.

बतौर ब्रॉडकास्ट जर्नलिस्ट उन्हें तकरीबन 22 साल का अनुभव है और पिछले 18 साल से वह इंडिया टुडे ग्रुप से जुड़े हुए हैं. उन्होंने लंबे समय तक प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) कवर किया है और इंडिया टुडे ग्रुप के अलग-अलग प्लेटफॉर्म्स के लिए संसद से रिपोर्टिंग की है. राजनैतिक खबरों के रोचक कवरेज के लिए उन्हें खास तौर पर जाना जाता है. बालकृष्ण ने अंतरराष्ट्रीय मामलों, अर्थव्यवस्था, स्वास्थ्य, शिक्षा, विज्ञान और पर्यावरण जैसे विविध विषयों को कवर किया है और इस सिलसिले में देश-विदेश की कई यात्राएं की हैं.

उन्होंने अनेक राष्ट्रीय और विधानसभा चुनावों को कवर किया है. जापान में आयोजित जी-8 समिट से लेकर छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित इलाकों में विधानसभा चुनावों को कवर करने तक का उन्हें अनुभव है. वह उत्तर प्रदेश में इंडिया टुडे ग्रुप के ब्यूरो प्रमुख भी रह चुके हैं. इंटरनेट टूल्स का इस्तेमाल करके खोजी पत्रकारिता उनकी पहली पसंद है और वो चीजों को बारीकी से परखने में भरोसा करते हैं. काम के अलावा उनकी दिलचस्पी संगीत, फोटोग्राफी और यात्राएं करने में है.

चयन कुंडू

चयन कुंडू इंडिया टुडे समूह की फैक्ट चेक टीम से जुड़े एक वरिष्ठ पत्रकार हैं. उन्होंने पूर्वी भारत में राजनीति, कारोबार, अपराध और मानवाधिकार जैसे विषयों पर ख़बरें की हैं.

उनका टीवी और मल्टीमीडिया पत्रकारिता में करीब दो दशकों का अनुभव है. शेवेनिंग फेलोशिप हासिल करने वाले चयन ने साल 2007 में यूके की बॉर्नमाउथ यूनिवर्सिटी से यंग इंडियन ब्रॉडकास्ट जर्नलिस्ट प्रोग्राम पूरा किया है.

इंडिया टुडे समूह से जुड़ने से पहले वह ज़ी न्यूज के पूर्वी क्षेत्र के ब्यूरो चीफ रहे हैं. उन्होंने र‍बीन्द्रनाथ टैगोर के नोबेल प्राइज की चोरी सहित कई बड़ी खबरें ब्रेक की हैं. साल 2004 में आई सुनामी आपदा के वक्त वह रिपोर्टिंग के लिए अंडमान द्वीप पहुंचने वाले पहले पत्रकारों में से थे.

 

ज्योति द्विवेदी

 

ज्योति द्विवेदी इंडिया टुडे ग्रुप की फैक्ट चेक टीम में प्रिंसिपल कॉरेस्पॉन्डेंट हैं. वह पिछले एक दशक से प्रिंट, वेब और रेडियो जैसे माध्यमों में सक्रिय रही हैं.

उन्हें शिक्षा, महिलाओं से जुड़े मुद्दों और सिनेमा जैसे विषयों की रिपोर्टिंग का अनुभव है. साथ ही, वह कई स्टिंग ऑप्रेशंस को भी अंजाम दे चुकी हैं जिनके सामने आने के बाद प्रशासन ने अहम कदम उठाए.

इंडिया टुडे ग्रुप से जुड़ने से पहले वह हिन्दुस्तान टाइम्स डिजिटल स्ट्रीम्स, दैनिक जागरण, द टाइम्स ऑफ इंडिया और ऑल इंडिया रेडियो जैसे संस्थानों में काम कर चुकी हैं. काम के अलावा वह भारतीय शास्त्रीय संगीत में भी खास रुचि रखती हैं.

कृष्णकांत

फैक्ट चेक टीम के कॉपी एडिटर कृष्णकांत करीब 12 साल से मीडिया में हैं. उन्हें दैनिक जागरण, दैनिक भास्कर और प्रभात खबर जैसे अखबारों में काम करने का अनुभव है. कृष्णकांत ने तलहका और द वायर में राजनीतिक और सामाजिक विषयों पर रिपोर्टिंग भी की है.

उनकी भारतीय ज्ञानपीठ से छपी किताब 'न्यू मीडिया और बदलता भारत' मीडिया संस्थानों में पढ़ाई जा रही है. साहित्य और संगीत में खासी रुचि रखने वाले कृष्णकांत ने बनारस घराने से शास्त्रीय संगीत भी सीखा है और साहित्यिक पत्रिकाओं में उनकी कविता-कहानियां भी छपती रही हैं.

अर्जुन डियोडिया

अर्जुन डियोडिया इंडिया टुडे समूह की फैक्ट चेक टीम में राइटर हैं. वह एक ट्रेनी रिपोर्टर के तौर पर इस समूह से जुड़े थे.

वह एक इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं और अपने कौशल का इस्तेमाल नए जमाने की डिजिटल मीडिया को आगे बढ़ाने में कर रहे हैं. वह फैक्ट फाइंडिंग और वेरिफिकेशन के लिए एडवांस्ड सर्च टेक्निक के इस्तेमाल में विशेषज्ञता रखते हैं.