scorecardresearch
 

मुस्लिमों को हक दिलाकर रहेंगे, चाहे फांसी हो जाए: खुर्शीद

केन्द्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा है कि चुनाव आयोग चाहे उन पर पाबंदी लगाए या फिर उन्हें फांसी दे दे लेकिन वह पिछड़े मुसलमानों को उनका हक दिलाकर रहेंगे.

सलमान खुर्शीद सलमान खुर्शीद

केन्द्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा है कि चुनाव आयोग चाहे उन पर पाबंदी लगाए या फिर उन्हें फांसी दे दे लेकिन वह पिछड़े मुसलमानों को उनका हक दिलाकर रहेंगे.

खुर्शीद ने शुक्रवार रात मुस्लिम बहुल खटकपुरा इलाके में एक सभा में कहा, ‘चुनाव आयोग ने मेरे उपर पाबंदी लगाई है लेकिन वह फांसी दे दे, या कुछ भी कर ले. हम पसमांदा मुसलमानों को उनका हक दिलाकर रहेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘क्या हम अब यह भी नहीं कह सकते कि पसमांदा मुसलमानों को उनका हक मिलेगा.’

खुर्शीद ने कहा, ‘हमने अपनी जिंदगी फर्रुखाबाद के लोगों के नाम वक्फ कर दी है. हम आज भी फर्रुखाबाद की जनता और गरीब लोगों के साथ हैं.’ गौरतलब है कि खुर्शीद ने पिछले महीने फर्रुखाबाद सदर क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी अपनी पत्नी लुइस खुर्शीद के समर्थन में आयोजित जनसभा में कहा था कि उनकी पार्टी 27 प्रतिशत के अन्य पिछड़े वर्गों (ओबीसी) के आरक्षण में से अल्पसंख्यकों के लिए उप कोटा बढ़ा कर नौ प्रतिशत कर देगी.

चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए उन्हें नोटिस जारी किया था. आयोग ने हाल में खुर्शीद को फटकार लगाते हुए हिदायत दी थी कि वह भविष्य में ऐसी गलती न न दोहराएं. खुर्शीद ने सभा में कहा कि कांग्रेस 22 साल बाद उत्तर प्रदेश की विधानसभा में तिरंगा फहराने जा रही है और वह चाहते हैं कि विधानसभा में फर्रुखाबाद का भी नारा लगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें